scorecardresearch
 

Rahul Gandhi ED Enquiry: राहुल गांधी से तीन दिन में 27 घंटे पूछताछ, ईडी ने शुक्रवार को फिर बुलाया

Rahul Gandhi ED Enquiry: प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को कांग्रेस नेता से करीब 8.30 घंटे तक पूछताछ की थी. वहीं, मंगलवार को यह पूछताछ 10 घंटे से ज्यादा चली. बुधवार को राहुल के साथ ईडी की करीब 9 घंटे लंबी पूछताछ चली.

X
राहुल गांधी (File Photo)
राहुल गांधी (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली समेत कई राज्यों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
  • दिल्ली पुलिस ने 240 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया
  • पिछले 3 दिनों से की जा रही राहुल गांधी से पूछताछ

Rahul Gandhi ED Enquiry: नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ED) के पूछताछ का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है. सोमवार से लेकर बुधवार तक 3 दिनों के अंदर ED राहुल से करीब 27 घंटे की पूछताछ कर चुकी है. जांच एजेंसी ने उन्हें सवाल-जवाब के लिए शुक्रवार को फिर बुलाया है.

सोमवार को जहां ED ने कांग्रेस नेता से करीब 8.30 घंटे तक पूछताछ की थी. वहीं, मंगलवार को यह पूछताछ 10 घंटे से ज्यादा चली. बुधवार को राहुल के साथ ईडी की करीब 9 घंटे लंबी पूछताछ चली. इसके बाद उन्हें शुक्रवार को एक बार फिर हाजिर होने के लिए कहा गया.

लंबी क्यों खिंच रही है पूछताछ?

ED से जुड़े सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी से पिछले 2 दिन की पूछताछ में 25 से 30 सवाल पूछे गए हैं. एजेंसी का कहना है कि कांग्रेस नेता उनके सवालों का बिल्कुल एक सा जवाब दे रहे हैं. सवाल-जवाब का सिलसिला भी बेहद धीमा है. दरअसल, राहुल चाहते थे कि पूछताछ मंगलवार को ही खत्म हो जाए, लेकिन ईडी के पास अभी कुछ सवाल बचे हैं.

कई राज्यों में कांग्रेस का प्रदर्शन

वैसे तो पिछले 3 दिनों से कांग्रेस कार्यकर्ता दिल्ली समेत कई राज्यों में राहुल से की जा रही पूछताछ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन बुधवार को यह विरोध काफी तेज दिखा. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी ऑफिस के सामने टायर जलाए. अशोक गहलोत, दिग्विजय सिंह, सचिन पायलट समेत कई नेता बुधवार को विरोध जताने दिल्ली में मौजूद थे. दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय जा रहे सचिन पायलट को नरेला थाने की पुलिस ने हिरासत में ले लिया. देर रात तक उन्हें नहीं छोड़ा गया.

हादसा
हिरासत में लिए गए कांग्रेस नेता सचिन पायलट को देर रात तक दिल्ली के नरेला थाने से नहीं छोड़ा गया था.

240 कार्यकर्ता हिरासत में लिए गए

दिल्ली पुलिस के मुताबिक बुधवार को हुए प्रदर्शन के दौरान 240 नेता और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया. हिरासत में लिए गए नेताओं में 4 लोकसभा और 21 राज्यसभा सदस्य भी शामिल हैं. इसके अलावा 33 महिला कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया गया था, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया.

कांग्रेस ने सरकार को भेजा नोटिस

कांग्रेस ने गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और कानून मंत्री किरण रिजिजू को एक लीगल नोटिस भेजा. आरोप है कि उन्हें राहुल गांधी से हो रही ईडी की पूछताछ की सारी जानकारी मिल रही है. कांग्रेस ने सवाल पूछा है कि आखिर कैसे उन्हें पूछताछ की सारी जानकारी मिल रही है? फिलहाल, अभी तक किसी भी मंत्री ने इस लीगल नोटिस पर प्रतिक्रिया नहीं दी है.

दिल्ली पुलिस के खिलाफ ही शिकायत

कांग्रेस ने तुगलक रोड पुलिस स्टेशन में दिल्ली पुलिस के खिलाफ ही शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत में आरोप लगाया गया है कि बुधवार को हुए प्रदर्शन के दौरान दिल्ली पुलिस के कर्मियों ने कांग्रेस कार्यालय में घुसकर नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी की. हालांकि, बता दें कि दिल्ली पुलिस पहले ही कह चुकी है कि कांग्रेस कार्यालय के अंदर घुसकर बदसलूकी नहीं की गई है.

कांग्रेस का लोकसभा अध्यक्ष को पत्र

लोकसभा में नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने स्पीकर ओम बिरला को पत्र लिख इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है. अधीर ने पत्र में लिखा- हमारे सहयोगी राहुल गांधी से ईडी लगातार 3 दिन से पूछताछ कर रही है. रोजाना करीब 10 से 11 घंटे पूछताछ की जाती है. संसद सदस्य के साथ इस तरह का व्यवहार अमानवीय है. इसमें साजिश की आशंका है. हम सभी आपसे हस्तक्षेप करने की उम्मीद करते हैं.

तमिलनाडु की सांसद ने की शिकायत

तमिलनाडु कांग्रेस की सांसद जोतिमणि ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के नाम एक वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें उनके फटे कपड़े दिखाए गए और दिल्ली पुलिस की शिकायत की गई. जोतिमणि ने कहा कि महिला प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा एक बेहद भयावह मानवाधिकार उल्लंघन है. मैं अपने साथी सांसद और महिला प्रदर्शनकारियों पर दिल्ली पुलिस के अपमानजनक कृत्य की कड़ी निंदा करती हूं.

जम्मू-कर्नाटक में राजभवन घेरेगी कांग्रेस

राहुल से ईडी की पूछताछ के विरोध में जम्मू और कर्नाटक में राजभवन का घेराव किया जाएगा. जम्मू कांग्रेस की तरफ से बताया कि गुरुवार को सुबह 11 बजे पार्टी कार्यकर्ता राजभवन के बाहर प्रदर्शन करेंगे. वहीं, कर्नाटक कांग्रेस गुरुवार सुबह कांग्रेस कार्यालय से राजभवन चलो मार्च निकालेगी. इस मार्च में कर्नाटक कांग्रेस के सभी विधायकों, सांसद और पदाधिकारी शामिल होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें