scorecardresearch
 

Presidential polls: द्रौपदी मुर्मू ने मांगा था BJD से समर्थन, नवीन पटनायक बोले- Proud Moment

Draupadi Murmu: नवीन पटनायक ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू का NDA के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में होना ओडिशा के लिए गर्व का क्षण है. वो देश में महिला सशक्तिकरण के लिए एक उदाहरण स्थापित करेंगी.

X
नवीन पटनायक (फाइल फोटो) नवीन पटनायक (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • द्रौपदी मुर्मू एनडीए की उम्मीदवार हैं
  • वो झारखंड की राज्यपाल भी रह चुकी हैं

राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए गठबंधन ने अपने उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है. झारखंड की राज्यपाल रह चुकीं द्रौपदी मुर्मू एनडीए की चेहरा होंगी. नाम के ऐलान के बाद द्रौपदी मुर्मू ने सबसे पहले BJD (बीजू जनता दल) से समर्थन की अपील की थी. अब इस पर BJD चीफ नवीन पटनायक की प्रतिक्रिया आई है. 

नवीन पटनायक ने कहा है कि द्रौपदी मुर्मू का NDA के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में होना ओडिशा के लिए गर्व का क्षण है. जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरे साथ इस पर चर्चा की तो मुझे बहुत खुशी हुई. वो देश में महिला सशक्तिकरण के लिए एक उदाहरण स्थापित करेंगी. नवीन पटनायक का ये बयान द्रौपदी मुर्मू की अपील पर फाइनल मुहर माना जा रहा है. 

>

बता दें कि द्रौपदी मुर्मू भी ओडिशा की ही रहने वाली हैं. ओडिशा के आदिवासी जिले मयूरभंज के रायरंगपुर गांव में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ओडिशा की पहली महिला और आदिवासी नेता हैं, जिन्हें राज्यपाल नियुक्त किया गया. वो 18 मई 2015 से 12 जुलाई 2021 तक झारखंड के राज्यपाल पद पर रहीं. द्रौपदी मुर्मू देश की पहली आदिवासी महिला राज्यपाल हैं. 

2013 में वो बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में एसटी मोर्चे की सदस्य रहीं. 10 अप्रैल 2015 तक उन्होंने यह पद संभाला था. वह 2013 में ओडिशा के मयूरभंज की जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुईं थी. वह 2010 में भी जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं.

रायरंगपुर सीट से 9 साल विधायक रहीं

द्रौपदी मुर्मू 2000 से लेकर 2009 तक रायरंगपुर सीट से दो बार विधायक चुनी गईं. उन्हें राज्य परिवहन और वाणिज्य विभाग का मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया था. 2002 लेकर 2009 तक वह बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में एसटी मोर्चा की सदस्य रह चुकी थीं. इन्होंने 2002-2004 के बीच मत्स्य पालन विभाग और पशुपालन विभाग की भी जिम्मेदारी संभाली थी.

24 को खत्म हो रहा है कोविंद का कार्यकाल

बता दें कि अगले महीने की 25 तारीख को देश को नया राष्ट्रपति मिलेगा. नामांकन प्रक्रिया चल रही है. 29 जून को पर्चा भरने की आखिरी तारीख है. राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 18 जुलाई को होगा और मतगणना 21 जुलाई को होगी. मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें