scorecardresearch
 

मंत्रिमंडल विस्तार पर बवाल, येदियुरप्पा बोले- आलाकमान से शिकायत करें नाराज BJP विधायक

अपने करीबियों को मंत्री बनाने के आरोप पर सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मैं आरोप लगा रहे सभी विधायकों से अनुरोध करता हूं, वो आलाकमान के सामने अपनी बात रखें.

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो-PTI) मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंत्रिमंडल विस्तार से नाराज हैं कई विधायक
  • विधायकों ने येदियुरप्पा पर लगाए थे आरोप
  • अब सीएम बीएस येदियुरप्पा ने तोड़ी चुप्पी

कर्नाटक में कैबिनेट विस्तार के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अंदरखाने घमासान जारी है. मंत्रिमंडल विस्तार के खिलाफ कई विधायक बगावती तेवर अपना चुके हैं. विधायकों की बगावत पर पहली बार मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने चुप्पी तोड़ी है. उनका कहना है कि जिन विधायकों को शिकायत है, वो पार्टी हाईकमान के सामने मामले को उठाए.

अपने करीबियों को मंत्री बनाने के आरोप पर सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मैं आरोप लगा रहे सभी विधायकों से अनुरोध करता हूं, वो आलाकमान के सामने अपनी बात रखें, उन्हें कोई नहीं रोक रहा है. यहां और वहां प्रतिक्रिया देना उचित नहीं है, यह पार्टी फोरम में अच्छा नहीं होगा, कोई भ्रम न पैदा करें.

सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हमने मंत्रिमंडल का विस्तार किया. हमारे पार्टी आलाकमान के निर्देशों के अनुसार, हमने एक पद खाली रखा है. मैंने देखा है कि कुछ विधायक आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें मंत्री पद नहीं मिला. मैंने सीमाओं के बावजूद अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. कुछ लोगों ने बेबुनियाद आरोप लगाए हैं.

सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर लगभग 10-12 विधायकों ने अपनी नाराजगी व्यक्त की है. अगर वे वास्तव में निराश हैं, तो उन्हें पार्टी आलाकमान के सामने अपनी बात को रखनी चाहिए. उनके लिए मीडिया में ये बयान देना और भ्रम पैदा करना और असंतोष दिखाना सही नहीं होगा. ये बयान पार्टी की विचारधाराओं के खिलाफ है.

देखें आजतक LIVE TV

आपको बता दें कि कल कर्नाटक मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ. कर्नाटक कैबिनेट में मुख्यमंत्री समेत 27 मंत्री थे. मंत्रिमंडल में 7 सदस्यों की जगह खाली थी. जो लोग मंत्री बने हैं उनमें एमटीबी नागराज, उमेश कट्टी, अरविंद लिम्बावली, मुरुगेश निरानी, आर शंकर, सीपी योगीश्वर, अंगारा एस का नाम शामिल है.

इस मंत्रिमंडल विस्तार से कई बीजेपी नेता नाराज हैं. पार्टी के विधायक बसनगौड़ा यतनाल ने मुख्यमंत्री येदियुरप्पा पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा को राजनीति से संन्यास ले लेना चाहिए, जो भी ब्लैकमेल करता है या पैसा देता है उसे मंत्री बना दिया जाता है, इसके लिए कोटा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें