scorecardresearch
 

एके एंटनी के बेटे ने कांग्रेस में सभी पदों से दिया इस्तीफा, BBC डॉक्यूमेंट्री विवाद है वजह

कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. पूर्व केंद्रीय मंत्री एके एंटनी के बेटे अनिल के एंटनी ने कांग्रेस पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा देने का ऐलान किया है. अनिल के एंटनी ने इस्तीफे का पत्र ट्वीट करते हुए पार्टी नेतृत्व पर भी सवाल उठाए हैं. अनिल के एंटनी ने अपने ट्वीट में इस्तीफे की वजह भी बताई है.

X
अनिल एके एंटनी (फाइल फोटो)
12:18
अनिल एके एंटनी (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गुजरात दंगों को लेकर आई बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री पर मचे सियासी घमासान के बीच कांग्रेस को दक्षिण भारत के केरल में बड़ा झटका लगा है. पूर्व केंद्रीय मंत्री एके एंटनी के बेटे अनिल के एंटनी ने कांग्रेस पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया है.

अनिल के एंटनी अपने ट्वीट के बाद कांग्रेस में ही घिर गए थे. अनिल एंटनी ने अब कांग्रेस पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है. अनिल एंटनी ने ट्वीट कर अपने इस्तीफे का ऐलान कर दिया है. उन्होंने ट्वीट कर कांग्रेस में सभी पदों से इस्तीफा देने जैसा कदम उठाने की वजह भी बताई है.

अनिल एंटनी ने ट्वीट कर कहा कि मुझ पर एक ट्वीट को डिलीट करने के लिए असहिष्णुता के साथ दबाव बनाया जा रहा था. ऐसा वे लोग कर रहे थे जो फ्रीडम ऑफ स्पीच के लिए खड़े होने की बात करते हैं. उन्होंने आगे कहा कि मैंने ट्वीट डिलीट करने से मना कर दिया. अनिल ने इस्तीफे का पत्र भी ट्वीट किया है.

अपने इस्तीफे में अनिल एंटनी ने शशि थरूर का समर्थन के लिए धन्यवाद किया है और साथ ही कांग्रेस पार्टी को भी घेरा है. उन्होंने फेसबुक पर अपशब्द कहे जाने का भी जिक्र अपने ट्वीट में किया है. गौरतलब है कि अनिल के एंटनी ने कांग्रेस पार्टी में सभी पदों से इस्तीफे का ऐलान करने से एक दिन पहले एक बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को लेकर एक ट्वीट किया था जिसके बाद वे अपनी ही पार्टी में घिर गए थे.

थरूर बोले- नहीं हुई है अनिल से बात

अनिल के कांग्रेस में सभी पदों से इस्तीफे पर शशि थरूर ने कहा है कि मेरी अनिल से बात नहीं हुई थी. मुझे लगता है कि वे अपने लिए बोल सकते हैं. उन्होंने बीबीसी डॉक्यूमेंट्री को लेकर कहा- मुझे खुशी है कि सरकार ने कह दिया है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में हस्तक्षेप नहीं करेंगे. शशि थरूर ने कहा कि केरल में यूथ विंग ने इसकी सेशरशिप के विरोध में स्पेशल स्क्रीनिंग आयोजित किया जिसका मैंने भी समर्थन किया था.

उन्होंने कहा कि ये तर्क विश्वसनीय नहीं है कि इससे भारत की संप्रभुता प्रभावित होगी. ये इतनी नाजुक नहीं है. शशि थरूर ने कहा कि हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा और संप्रभुता ऐसी चीज नहीं है जिसे इतनी आसानी से एक डॉक्यूमेंट्री के जरिये प्रभावित किया जा सके. उन्होंने कहा कि हम एक मजबूत देश हैं.

डॉक्यूमेंट्री पर पार्टी के रुख से हटकर किया था ट्वीट

गौरतलब है कि केरल कांग्रेस की अलग-अलग शाखाओं ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री दिखाने का ऐलान किया था. अनिल के एंटनी ने पार्टी लाइन से अलग जाकर एक ट्वीट कर दिया जिसे लेकर केरल कांग्रेस में ही घमासान मच गया था. अनिल ने ट्वीट कर कहा था कि बीबीसी एक सरकार प्रायोजित चैनल है और उसका इतिहास भारत को लेकर पूर्वाग्रह का रहा है. बीबीसी और ब्रिटेन के पूर्व विदेश मंत्री जैक स्ट्रॉ के विचारों को भारतीय संस्थानों के विचार से अधिक महत्व देना खतरनाक चलन है.

अनिल एंटनी ने ये भी कहा था कि जैक स्ट्रॉ ने ही इराक युद्ध की योजना बनाई थी और अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन ने इराक पर हमला बोल दिया था. बीजेपी के साथ तमाम मतभेद हैं लेकिन इसके बावजूद इससे देश की संप्रभुता प्रभावित होगी. अनिल एंटनी के इस ट्वीट के बाद कांग्रेस में हड़कंप मच गया था. पीएम मोदी को घेरने में जुटी कांग्रेस के नेता अनिल पर ये ट्वीट डिलीट करने के लिए दबाव बना रहे थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें