scorecardresearch
 

राहुल के बयान पर हमलावर हुई BJP, योगी बोले- विभाजनकारी राजनीति, स्मृति बोलीं- एहसान फरामोश!

केरल में राहुल गांधी द्वारा बिना नाम लिए अमेठी पर दिए गए बयान को लेकर केंद्रीय मंत्री ने उन्हें आड़े हाथों लिया. त्रिवेंद्रम में आयोजित एक कार्यक्रम में राहुल ने कहा था कि मैं 15 साल तक उत्तर भारत में सांसद था. मुझे एक अलग तरह की रानजीति की आदत हो गई थी.

राहुल गांधी-स्मृति ईरानी (फाइल फोटो) राहुल गांधी-स्मृति ईरानी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केरल में राहुल गांधी ने दिया था बयान
  • केंद्रीय मंत्री ने राहुल को आड़े हाथों लिया

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला है. केरल में राहुल गांधी द्वारा बिना नाम लिए अमेठी पर दिए गए बयान को लेकर केंद्रीय मंत्री ने उन्हें आड़े हाथों लिया.

दरअसल, राहुल गांधी ने त्रिवेंद्रम में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था कि मैं 15 साल तक उत्तर भारत में सांसद था. मुझे एक अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी. मेरे लिए केरल आना बेहद नया था क्योंकि मुझे अचानक लगा कि यहां के लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं और जमीनी तौर पर मुद्दों के विस्तार में जाने वाले हैं. 

उनके इस बयान पर स्मृति ईरानी ने उन पर तीखा हमला बोला. केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट करके लिखा- 'एहसान फरामोश! इनके बारे में तो दुनिया कहती है- थोथा चना बाजे घना.' बता दें कि लोकसभा चुनाव- 2019 में कांग्रेस के गढ़ अमेठी में राहुल गांधी पटखनी दी थी. राहुल के इस बयान पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी उन्हें घेरा. 

सीएम योगी ने ट्वीट करके लिखा- 'श्रीमान राहुल जी, सनातन आस्था की तपस्थली केरल से लेकर प्रभु श्री राम की जन्मस्थली उत्तर प्रदेश तक सभी लोग आपको समझ चुके हैं. विभाजनकारी राजनीति आपका राजनीतिक संस्कार है. हम उत्तर या दक्षिण में नहीं, पूरे भारत को माता के स्वरूप में देखते हैं.'

वहीं, मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राहुल गांधी ने पहले उत्तर भारत को कांग्रेस मुक्त कर दिया, अब दक्षिण को चले हैं. हमारे और जनता के लिए पूरा देश एक है. कांग्रेस भारत को उत्तर और दक्षिण में बांटना चाहती है, जनता ऐसे प्रयासों को सफल नहीं होने देगी.
 

राहुल ने केंद्र सरकार पर साधा था निशाना

त्रिवेंद्रम में राहुल गांधी ने कहा था कि 4 लोग केंद्र सरकार को चला रहे हैं. प्रधानमंत्री ने नोटबंदी कर गरीब लोगों की जेब से पैसा लिया. पिछले 6 सालों में रोजगार पैदा करने वाले क्षेत्र की रीढ़ तोड़ दी गई. वहीं, व्यापरियों को नोटबंदी और GST से भी फायदा नहीं हुआ. 

  • क्या उत्तर भारत की राजनीति पर दिया गया राहुल गांधी का बयान पार्टी के लिए नुकसानदेह साबित होगा?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें