scorecardresearch
 

क्या Oxygen Crisis का हवाला देने वाले राज्यों ने नहीं शेयर किए मौत के आंकड़े?

क्या Oxygen Crisis का हवाला देने वाले राज्यों ने नहीं शेयर किए मौत के आंकड़े?

कोरोना काल में ऑक्सीजन संकट से मौत पर राजनीति तीखी हो गई है. कल राज्यसभा में केंद्र सरकार का जवाब आने के बाद जब विपक्ष ने सवाल उठाए तो बीजेपी की तरफ से करारा जवाब आया. सवाल राज्य सरकारों पर उठ रहे हैं. ऑक्सीजन संकट का रोना रो रही राज्य सरकारों ने केंद्र से मौत का आंक़ड़ा छिपाया है. इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस AAP समेत कई दलों ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने आरोप लगाया है कि ऑक्सीजन निर्यात 700 फीसदी तक बढ़ाया गया जिसकी वजह से देश में ऑक्सीजन का संकट हुआ. उधर आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने कहा है कि वो इस मामले में विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएंगे. देखिए ये रिपोर्ट.

The Central government in a statement in parliament said that no data was provided by states on deaths due to oxygen shortage. This statement of the Centre has triggered a huge political ruckus. At the peak of the second Covid wave, the struggle among India's hospitals and patients had captured global attention. Now the opposition is aggressively attacking the Modi government. Questions are being raised on the state governments as well. The state governments, crying out for the oxygen crisis, have hidden the death toll from the Centre. Watch this report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें