scorecardresearch
 

Weather Update: दिल्ली में 5 डिग्री तक गिरेगा तापमान, कश्मीर में अलर्ट, जानें मकर सक्रांति तक मौसम का हाल

उत्तर प्रदेश में 13 जनवरी तक कोहरा पड़ सकता है. वहीं बारिश झेल रहे मध्य प्रदेश में भी अब बादल छंट रहे हैं और शीतलहर लौट रही है. एमपी में अगले कुछ दिनों में पारा 3 डिग्री तक लुढ़क सकता है.

Mausam Update, weather Forecast, Minimum Temperature Mausam Update, weather Forecast, Minimum Temperature

बादलों और बूंदाबांदी के दौर के बाद उत्तर-भारत के ज्यादातर इलाकों में अब आसमान साफ हो चुका है और इसी के साथ सर्दी की सिहरन भी लौट आई है. राजधानी दिल्ली में तापमान फिर से नीचे आने लगा है. बारिश के दिनों में न्यूनतम तापमान 10 से 11 डिग्री के आसपास पहुंच गया था, लेकिन ये फिर से 7 डिग्री के करीब लुढ़क आया है.

मौसम विभाग ने पहले ही चेतावनी दी थी कि बारिश के दौर के बाद उत्तर भारत में शीतलहर लौटेगी. उधर पहाड़ों पर बर्फबारी भले ही अभी रुकी हो लेकिन बर्फ की मोटी परत हर तरफ दिखाई दे रही है. जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल में आम जिंदगी बर्फ के चलते जम सी गई है.

अगले कुछ दिनों के मौसम का पूर्वानुमान क्या है?
पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी से थोड़ी राहत की उम्मीद है. 14 जनवरी तक मौसम के खुले रहने के आसार हैं. दिल्ली और आसपास के इलाकों में शीतलहर की वापसी हो गई है, ठंड बढ़ गई है और 14 जनवरी तक न्यूनतम तापमान 5 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है. पंजाब हरियाणा और राजस्थान भी शीतलहर की चपेट में हैं.

उत्तर प्रदेश में 13 जनवरी तक कोहरा पड़ सकता है. वहीं बारिश झेल रहे मध्य प्रदेश में भी अब बादल छंट रहे हैं और शीतलहर लौट रही है. एमपी में अगले कुछ दिनों में पारा 3 डिग्री तक लुढ़क सकता है. दक्षिण में कर्नाटक में बारिश से लोग परेशान हैं. राज्य के चिकमगलूर और कोडागू में बेमौसम बारिश से कॉफी की फसल हो भारी नुकसान पहुंचा है. इसकी वजह से किसानों को बड़ा झटका लगा है और उन्हें लाखों का घाटा हो गया है.

देखें: आजतक LIVE TV

कश्मीर में येलो अलर्ट

जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी से रविवार को राहत तो मिली लेकिन मौसम विभाग ने कुछ जिलों में बर्फीले तूफान की चेतावनी जारी करके लोगों को दहशत में डाल दिया है. मौसम विभाग के मुताबिक रामबन, किश्तवाड़ और बांदीपोरा के ऊपरी इलाकों मे बर्फीला तूफान आ सकता है और इसके लिए येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है.

जम्मू कश्मीर में अब भारी बर्फबारी को राज्य प्राकृतिक आपदा की सूची में शामिल कर लिया गया है. जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने ट्वीट करके जानकारी दी. उप राज्यपाल ने आदेश दिया है कि भारी बर्फबारी के हालात में राहत की गाड़ियां हमेशा तैयार रहें और प्रभावित जिलों को तत्काल प्रभाव से एंबुलेंस मुहैया कराया जाए. प्रशासन को निर्देश जारी किया गया है और कहा गया है कि आम लोगों के मुद्दों पर ज्यादा संवेदनशीलता के साथ काम किया जाए.

भारत चीन सीमा को जोड़ने वाले मार्ग पर -15 डिग्री का टॉर्चर

भारत चीन सीमा को जोड़ने वाला मार्ग पर कड़ाके की ठंड के बीच -15 के टॉर्चर को झेलने के बाद बीआरओ के जवानों और अधिकारियों ने भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाले हाईवे पर बर्फ हटाने का काम पूरा कर दिया है. हनुमान चट्टी से लेकर माना गांव तक बीआरओ ने सड़क को खोल दिया है. दूसरी तरफ नीति पास को जोड़ने वाली सड़क भी बीआरओ द्वारा खोली गई है.

सेना के वाहन सीमा के अग्रिम चौकियों पर पहुंच सके इसलिए मार्ग को समय रहते ही बीआरओ के द्वारा खोल दिया है. बताया जा रहा है कि इस बार मार्ग पर 4 से 5 फीट बर्फ जमी हुई थी जिसे हटाकर मार्ग यातायात के लिए खोल दिया गया है, 

इस सप्ताह सोमवार मंगलवार और बुधवार को हुई भारी बर्फबारी के बाद बद्रीनाथ एवं भारत चीन सीमा को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 58 हनुमान चट्टी से माना पास तक पूरी तरह से भारी बर्फबारी के चलते बंद हो गया था, जिसके बाद मार्ग पर जगह-जगह ग्लेशियर भी टूट गए थे, जिससे मार्ग खोलने में और भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था.

बीआरओ द्वारा तत्काल बर्फबारी के साथ ही बॉर्डर तक सड़क मार्ग को खोलने का काम शुरू कर दिया गया था. -15 के टॉर्चर में भी बीआरओ के अधिकारी कर्मचारी इस मार्ग से बर्फ हटाने में जुटे रहे और 18 किलोमीटर के मार्ग से बर्फ और ग्लेशियरों को काटकर हनुमान चक्की से माना गांव तक अब मार्ग को पूरी तरह खोल दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें