scorecardresearch
 

'सीधी बात' में बोले तेजस्वी यादव- चोर दरवाजे से आई बिहार सरकार, हमारे पक्ष में था जनता का फैसला

'आजतक' के खास कार्यक्रम 'सीधी बात' में बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखे हमले किए. उन्होंने पिछले बिहार विधानसभा चुनाव में आए नतीजों पर कहा कि जनता ने हमारे पक्ष में फैसला दिया था.

X
तेजस्वी यादव तेजस्वी यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'नतीजों पर बोले तेजस्वी- जनता ने हमारे पक्ष में दिया था फैसला'
  • 'बिहार की एनडीए सरकार चोर दरवाजे से राज्य में आई है'
  • सीधी बात कार्यक्रम में तेजस्वी ने लगाया वादाखिलाफी का आरोप

'आजतक' के खास कार्यक्रम 'सीधी बात' में बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखे हमले किए. उन्होंने पिछले बिहार विधानसभा चुनाव में आए नतीजों पर कहा कि जनता ने हमारे पक्ष में फैसला दिया था, लेकिन बिहार सरकार चोर दरवाजे से राज्य में आ गई. उन्होंने नीतीश सरकार पर वादाखिलाफी करने का भी आरोप लगाया और कहा कि इससे जनता काफी परेशान है.

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले चुनाव में उनकी पार्टी 70 से 40 सीटों पर आ गई, तो ऐसे में उनके अनुभव का क्या फायदा हुआ? 15 साल से वे मुख्यमंत्री हैं, लेकिन फिर भी उन्हें बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ना पड़ा.

उन्होंने कहा कि बिहार में विपक्ष की संख्या का काफी कम ही अंतर है और कुल वोटों में सिर्फ 12 हजार का ही अंतर रहा है. कार्यक्रम में आरजेडी नेता ने आगे कहा, ''हमारी विचारधारा है और उस पर ही हम लोग राजनीति करते हैं, लेकिन नीतीश कुमार की कोई विचारधारा नहीं है. उन्हें सिर्फ कुर्सी पर ही बैठना पसंद है.''

पार्ट टाइम नेता होने के आरोपों पर तेजस्वी यादव ने जवाब दिया कि ऐसे आरोप लगते रहते हैं. ये आरोप ऐसे लोग लगाते हैं, जिन्हें सत्ता में रहकर काम करना चाहिए था. कोरोना की दूसरी लहर में मुख्यमंत्री नजर नहीं आए. अस्पतालों, ऑक्सीजन आदि की बहुत खराब स्थिति थी. हमने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी कि यदि आप नहीं निकल रहे हैं तो हमें ही निकलने दीजिए.

तेजस्वी यादव ने प्रभु चावला के साथ बातचीत करते हुए आगे कहा, ''यदि कोरोना की दूसरी लहर में हम अस्पतालों में जाते तो कहा जाता कि आप कोरोना फैला रहे हैं, इसी वजह से हमने मुख्यमंत्री से अनुमति मांगी थी. अगर ऐसा नहीं करता तो फिर पिछली बार की तरह मुकदमे कर दिए जाते.''

'लालू यादव नाम नहीं, एक विचारधारा'

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से जुड़े एक सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि वे सिर्फ एक नाम नहीं हैं, बल्कि विचारधारा हैं. उनका वोटबैंक है. जब नीतीश कुमार साथ थे, तब भी सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी थी, लेकिन वादे के अनुसार हमने नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री बनाया था. उन्होंने कहा, ''लालू जी ने जो काम किया है, उसका असर अभी तक है.'' तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू जी ने सामाजिक न्याय किया था और अगर हमें मौका मिलता है तो आर्थिक न्याय करेंगे. आरजेडी सिर्फ एमवाई की पार्टी नहीं है, बल्कि यह पूरी ए-जेड की पार्टी है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें