scorecardresearch
 

अंदर तेजस्वी यादव ले रहे थे मीटिंग, बाहर आवास की सुरक्षा में तैनात पुलिस और पटना पुलिस आपस में भिड़ गई

राबड़ी आवास के बाहर, सुरक्षा में लगी पुलिस और सचिवालय थाने की पुलिस आपस में भिड़ गई. अंदर तेजस्वी यादव बिहार विधानसभा चुनाव के आरजेडी के प्रत्याशियों की बैठक ले रहे थे.

राबड़ी आवास की सुरक्षा में खड़ी पुलिस और सचिवालय पुलिस आपस में भिड़ी (फाइल फोटो) राबड़ी आवास की सुरक्षा में खड़ी पुलिस और सचिवालय पुलिस आपस में भिड़ी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं की भीड़ जमा थी
  • सचिवालय पुलिस भीड़ हटाने पहुंची
  • आवास की सुरक्षा में लगी पुलिस और सचिवालय पुलिस आपस में भिड़ गई

गुरुवार के दिन पटना में स्थित राबड़ी आवास के बाहर एक हैरतअंगेज घटना घटी. जहां बिहार पुलिस की दो टीमें आपस में भिड़ गईं. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड सरकारी आवास पर उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी और पटना पुलिस के बीच झड़प हो गई. दरअसल आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी प्रत्याशियों की एक बैठक बुलाई थी. ये बैठक 10 सर्कुलर रोड पर स्थित राबड़ी आवास पर बुलाई थी. तेजस्वी द्वारा बुलाए गई इस बैठक में शामिल होने के लिए भारी संख्या में आरजेडी के नेता और प्रत्याशी पहुंचे थे और इसी दौरान 10 सर्कुलर रोड के बाहर अव्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो गई.

सर्कुलर रोड के बाहर बढ़ती अव्यवस्था और भारी भीड़ को देखते हुए सर्कुलर रोड पर गश्ती कर रही सचिवालय थाने की पुलिस राबड़ी आवास पर ही पहुंच गई, जहां सचिवालय थाने की पुलिस ने आरजेडी नेताओं को वहां से हटाना शुरू कर दिया. इसी को लेकर 10 सर्कुलर रोड के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मियों ने सचिवालय थाने की पुलिस की इस हरकत को लेकर आपत्ति जताई और विवाद आगे बढ़ गया, जिसमें राबड़ी आवास पर तैनात पुलिस और सचिवालय थाना पुलिस के बीच झड़प हो गई.

देखें: आजतक LIVE TV

यह विवाद इतना बढ़ गया कि सचिवालय थाना पुलिस को आखिरकार 10 सर्कुलर रोड के बाहर से हटना पड़ा. सचिवालय पुलिस की इस अतिसक्रियता पर आपत्ति जताते हुए आरजेडी नेता और पूर्व विधायक भोला यादव ने कहा “तेजस्वी यादव से पीड़ित और फरियादी लोग मिलने आएंगे और पुलिस का फरियादियों को तेजस्वी से मिलने से रोकना गलत है. मुझे लगता है ऐसी हरकत की निंदा होनी चाहिए और पुलिस महानिदेशक को तुरंत संज्ञान लेकर ऐसे पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करना चाहिए”

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें