scorecardresearch
 

'Don't talk to me' संसद में जब स्मृति ईरानी से बोलीं सोनिया गांधी, हुई नोकझोंक

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई टिप्पणी को लेकर ससंद में जमकर हंगामा हुआ. इस दौरान सोनिया गांधी के खिलाफ नारेबाजी भी हुई. इस दौरान कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक भी देखने को मिली. इतना ही नहीं सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी से 'Don't talk to me' तक कह दिया.

X
सदन में सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच हुई नोकझोंक सदन में सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच हुई नोकझोंक
5:07

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई टिप्पणी को लेकर ससंद में जमकर हंगामा हुआ. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इस मामले में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने सोनिया गांधी से मामले में माफी मांगने के लिए भी कहा. इस दौरान कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक भी देखने को मिली. इतना ही नहीं सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी से 'Don't talk to me' तक कह दिया.

दरअसल, अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'राष्ट्रपत्नी' बोल दिया. इसे लेकर बीजेपी ने कांग्रेस और अधीर रंजन चौधरी पर जमकर निशाना साधा. हालांकि, अधीर रंजन ने बाद में कहा कि उनसे भूल हो गई. उनकी जुबान फिसल गई थी. बीजेपी इस मामले को बेवजह तूल दे रही है. 

उधर, स्मृति ईरानी ने संसद में चर्चा के दौरान अधीर रंजन चौधरी के बयान का जिक्र किया, उन्होंने कहा, कांग्रेस आदिवासी, गरीब और महिला विरोधी है. कांग्रेस ने सोनिया गांधी की अध्यक्षता में देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर आसीन एक आदिवासी और गरीब परिवार की महिला का अनादर और उनकी गरीमा पर प्रहार करके संविधान को चोट पहुंचाने का काम किया है. 

नारेबाजी पर सदन में लौट कर आईं सोनिया गांधी

स्मृति ईरानी के बाद सदन में हंगामा हो गया और सदन को स्थगित कर दिया गया. सोनिया गांधी सदन से बाहर जाने लगीं. इस दौरान बीजेपी सांसद सोनिया गांधी इस्तीफा दो के नारे लगने लगे. नारेबाजी के बीच सोनिया गांधी वापस लौटीं और रमा देवी के पास गईं. उन्होंने कहा, इस मामले में अधीर रंजन ने माफी मांग ली है. मेरा नाम क्यों लिया जा रहा है. इस पर स्मृति ईरानी सोनिया के पास आईं और उन्होंने सोनिया से कहा, ''मैं आपकी क्या मदद कर सकती हूं, मैं आपका नाम लिया है.'' इस पर सोनिया ने जोर से कहा don't talk to me. इसके बाद स्मृति और सोनिया गांधी के बीच तीखी बहस हुई. ये बहस 2 से 3 मिनट चली. इस बाद दोनों पक्षों के सांसद आए और सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी को अलग अलग ले गए. 

कांग्रेस ने क्या कहा?

कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा ने बताया, ''सदन 4 बजे तक स्थगित कर दिया. हम सभी जा रहे थे. तभी बीजेपी के सांसद चिल्लाने लगे. सभी लोग सोनिया गांधी का नाम ले रहे थे. सोनिया गांधी इस पर वापस आईं.  वे जानना चाह रही थीं कि क्या बात है. जब वे रमा देवी के पास जा रही थीं. वे यह कह रहीं थीं कि अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांग ली है. फिर ये सब क्यों? तभी बीजेपी के सांसद चिल्लाने लगे कि इस्तीफा दो. यहां तक कि बीजेपी सांसद सोनिया गांधी को उंगली दिखाकर चिल्लाने लगे. स्मृति ईरानी भी तेज तेज चिल्लाने लगे. यहां तक कि स्मृति ईरानी ने यहां तक कहा कि ये बहुत चिल्लाती है. हमें ऐसा लग रहा था कि कहीं बीजेपी के सांसद हम पर हमला न कर दें. इसलिए हम सोनिया गांधी को वहां से निकाल कर वापस लाए.'' गीता कोड़ा ने कहा कि सोनिया गांधी के साथ जो कुछ हुआ, वो अशोभानीय है. 

कांग्रेस सांसद जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, आज लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया! लेकिन क्या स्पीकर इसकी निंदा करेंगे? क्या नियम सिर्फ विपक्ष के लिए होते हैं?

सोनिया गांधी ने धमकी दी- निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण ने कहा, सोनिया गांधी जब हमारी एक सांसद के पास आकर बात कर रही थीं, तब एक हमारी महिला सांसद उनके पास गईं और पूछने लगीं कि क्या हो गया, क्या बात हो रही है. तब सोनिया गांधी ने धमकी भरी आवाज से बात की कि तुम मुझसे बात मत करो. आप देश को गुमराह कर रही हैं. आप बाकी सदस्यों को धमकी दे रही हैं. आपको राष्ट्रपति के खिलाफ ऐसी टिप्पणी करने पर माफी नहीं मांग रही हैं. मैं उनसे अपील करती हूं कि वे देश के सामने आएं और इन सबके लिए माफी मांगे. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें