scorecardresearch
 

राजनाथ को राज्यसभा चेयरमैन की सलाह- वरिष्ठ सदस्यों से चैंबर में करें बात, विस्तार से समझाएं हालात

राज्यसभा से पहले राजनाथ सिंह लोकसभा में भी अपना बयान दे चुके हैं. गुरुवार को उन्होंने ऊपरी सदन में कहा कि हमारी सेनाएं सीमा पर मजबूती के साथ डटी हुई हैं.

राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजनाथ सिंह का चीन मसले पर बयान
  • राज्यसभा चेयरमैन ने भी रखी अपनी राय

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को संसद के ऊपरी सदन यानी राज्यसभा में चीन के साथ जारी विवाद पर जानकारी साझा की. सदन में जब राजनाथ सिंह ने अपना बयान पूरा किया, तब उपराष्ट्रपति और राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू ने भी सदन से कुछ बातें साझा की. इसी के साथ चेयरमैन ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को एक सलाह भी दी. 

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि सुरक्षा का मसला काफी अहम है, ऐसे में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सदन के कुछ वरिष्ठ सदस्यों को अपने चैंबर में बुलाना चाहिए. जहां रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के द्वारा उन्हें विस्तार से सीमा की स्थिति की जानकारी देनी चाहिए, ताकि सभी सदस्यों की चिंताएं दूर की जा सकें. 

बता दें कि राज्यसभा से पहले राजनाथ सिंह लोकसभा में भी अपना बयान दे चुके हैं. गुरुवार को उन्होंने ऊपरी सदन में कहा कि हमारी सेनाएं सीमा पर मजबूती के साथ डटी हुई हैं. मैं सदन को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सेनाएं अपना काम बखूबी करेंगी. मैं इस मुद्दे पर ज्यादा विस्तार से नहीं बोलना चाहता हूं और इस संवेदनशीलता को सदन समझेगा. 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की तरफ से पहले सैन्य कार्रवाई नहीं की गई, जबकि चीन की तरफ से की गई है, लेकिन हमने उनके इरादों को कामयाब नहीं होने दिया. 

राजनाथ सिंह बोले कि हम इस मुद्दे को शांतिपूर्वक ढंग से सुलझाना चाहते हैं और हम चाहते हैं कि चीनी पक्ष हमारे साथ मिलकर काम करें. चीन ने पिछले कई दशकों में सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी तैनाती क्षमताओं को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा निर्माण गतिविधि की. हमारे सरकार ने भी सीमावर्ती बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बजट को पिछले स्तरों से लगभग दोगुना कर दिया है.

आपको बता दें कि इस बार लोकसभा से अलग तरीके से यहां पर चर्चा हुई, राजनाथ सिंह के बाद विपक्ष के कई नेताओं अपनी बात रखी और चीन के मसले पर सरकार के साथ रहने का भरोसा दिलाया. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें