scorecardresearch
 

Omicron पर सरकार अलर्ट! हाई रिस्क देशों से आईं 11 फ्लाइट्स, जांच में 6 कोरोना पॉजिटिव

बताया गया है 11 एयरपोर्ट से एट रिस्क वाले देशों से आए 3476 लोगों का कोविड टेस्ट करवाया गया था. अब उसका नतीजा सामने आ गया है और 6 लोग पॉजिटिव निकले हैं. अब इन सभी सैंपल को जीनोम सीक्वेंस के लिए भेजा जाएगा.

X
ओमिक्रॉन खतरे के बीच 6 यात्री कोविड पॉजिटिव ( सांकेतिक फोटो) ओमिक्रॉन खतरे के बीच 6 यात्री कोविड पॉजिटिव ( सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओमिक्रॉन खतरे के बीच सरकार की सख्ती
  • हाई रिस्क देशों से आईं 11 फ्लाइट्स, 6 पॉजिटिव

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने पूरी दुनिया को दहशत में डाल दिया है. अभी तक इस नए वेरिएंट को लेकर ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन शुरुआती पड़ताल के बाद भी इसे खतरनाक माना जा रहा है. इसी वजह से भारत सरकार ने भी अपने स्तर पर सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है. अब जानकारी मिली है कि देश में 11 इंटरनेशनल फ्लाइट लैंड की हैं और उनमें से 6 यात्री कोविड पॉजिटिव निकले हैं.

 3476 यात्रियों में से 6 कोविड पॉजिटिव

बताया गया है 11 एयरपोर्ट से एट रिस्क वाले देशों से आए 3476 लोगों का कोविड टेस्ट करवाया गया था. अब उसका नतीजा सामने आ गया है और 6 लोग पॉजिटिव निकले हैं. अब इन सभी सैंपल को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा. जीनोम के जरिए इस बात की पुष्टि हो पाएगी कि ये लोग कोविड के किस वेरिएंट से संक्रमित हैं.

एयरपोर्ट की नई गाइडलाइन

अब इतनी सख्ती भी तब देखने को मिल रही है जब भारत सरकार द्वारा नई ट्रैवल एडवाइजरी जारी कर दी गई है. उसके मुताबिक अब एट रिस्क देशों से आने वाले सभी यात्रियों का आरटी पीसीआर टेस्ट होना अनिवार्य रहेगा. वहीं अगर दोनों वैक्सीन लग चुकी हैं, फिर भी कोविड टेस्ट करवाना पड़ेगा. इस सब के अलावा अगर कोई यात्री संक्रमित निकल जाता है तो उसको आइसोलेट में रखा जाएगा और फिर उसके सैंपल को जीनोम सीक्वेंस के लिए भेजा जाएगा.

अभी तक देश में ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित कोई भी मामला सामने नहीं आया है, लेकिन 20 देशों तक फैल चुके इस वेरिएंट ने भारत सरकार को भी चिंता में डाल दिया है. इसी वजह से सभी राज्यों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वे टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर पूरा जोर दें और एट रिस्क वाले देशों से आने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग हो.

राज्यों ने दिखाई सख्ती

अब कुछ राज्यों ने तो अपने स्तर पर सख्ती करना शुरू भी कर दिया है. उत्तराखंड में जारी गाइडलाइन के अनुसार, प्रदेश में किसी भी प्रकार के धरना-प्रदर्शन आगामी आदेश तक पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे. साथ ही गुरुवार से 50% क्षमता के साथ स्कूल खुलेंगे. 6 दिन में से 3 दिन ही बच्चे स्कूल में पढ़ने जाएंगे. उधर, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी अधिकारियों को कोविड प्रोटोकॉल को फिर से एक्टिव करने, सुविधाओं और कर्मियों को हाईअलर्ट पर रखने का निर्देश दे दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें