scorecardresearch
 

ओडिशा : मिनिएचर आर्टिस्ट राव ने बोतल में बनाई इको-फ्रेंडली मां दुर्गा की प्रतिमा

राव ने कांच की बोतल के अंदर दुर्गा की जो प्रतिमा बनाई है उसकी ऊंचाई 3 इंच और चौड़ाई 2.5 इंच है. आजतक संवाददाता से बातचीत में राव ने बताया कि मैं एक कलाकार के साथ माता दुर्गा का एक भक्त भी हूं. पवित्र नवरात्रि के अवसर पर मैंने कांच की बोतल के अंदर मिट्टी द्वारा निर्मित इको-फ्रेंडली माता दुर्गा की प्रतिमा को तैयार किया है.

मिनिएचर आर्टिस्ट राव ने बोतल में बनाई प्रतिमा मिनिएचर आर्टिस्ट राव ने बोतल में बनाई प्रतिमा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राव ने कांच की बोतल के अंदर बनाई प्रतिमा
  • प्रतिमा की ऊंचाई 3 इंच और चौड़ाई 2.5 इंच है

कोरोना महामारी के मद्देनजर ओडिशा के कुख्यात मिनिएचर आर्टिस्ट एल इश्वर राव ने नवरात्रि के अवसर पर कांच की बोतल के अंदर मिट्टी द्वारा निर्मित इको-फ्रेंडली मां दुर्गा की प्रतिमा बनाई है. राव ने कहा कि बोतल के अंदर मां दुर्गा अपने भक्तों को आशीर्वाद देती नजर आ रही हैं. उन्होंने कहा, मैं नवरात्रि पर मां दुर्गा माता से लोगों को कोरोना महामारी से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना करता हूं. 

राव ने कांच की बोतल के अंदर दुर्गा की जो प्रतिमा बनाई है उसकी ऊंचाई 3 इंच और चौड़ाई 2.5 इंच है. आजतक संवाददाता से बातचीत में राव ने बताया कि मैं एक कलाकार के साथ माता दुर्गा का एक भक्त भी हूं. पवित्र नवरात्रि के अवसर पर मैंने कांच की बोतल के अंदर मिट्टी द्वारा निर्मित इको-फ्रेंडली माता दुर्गा की प्रतिमा को तैयार किया है. 

मिट्टी की बनाई मूर्ति 
राव ने बताया कि माता दुर्गा की प्रतिमा मिट्टी की बनी है. इस कार्य को करने के लिए सबसे उन्होंने बोतल के अंदर कागज और कांच की मदद से आधार तैयार किया. जिसके बाद मिट्टी के छोटे-छोटे टुकड़ों को जोड़ कर माता की प्रतिमा बनाई. माता की प्रतिमा को सजाने के लिए सितारा एवं रंगों का इस्तेमाल किया. इस प्रतिमा को बनाने में राव को 7 दिन का समय लगा. मिनिएचर आर्ट के तहत किसी भी प्रतिमा को एक पूर्ण रूप देने के लिए कलाकार को एकाग्रता के साथ कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है. 

राव ने बताया कि इस दुर्गा पूजा के शुभ अवसर पर माता से प्रार्थना करता हूं कि अपने भक्तों को इस कोरोना के महामारी से मुक्त करें. साथ ही अगले साल हमें अपना दर्शन पाने का अवसर प्रदान करें. मैं इस महामारी के दौरान लोगों से सामाजिक दूरी बना कर पूजा अर्चना विधि पूरा करने की अपील करता हूं. 

एल ईश्वर राव, राजधानी भुवनेश्वर से करीब 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थिति खुर्दा जिले के जटनी गांव के रहने वाले हैं. राव ने इससे पहले अमेरिका के नए राष्ट्रपति बाइडेन का फोटो फ्रेम बोतल के अंदर तैयार किया था. साथ ही पेंसिल की नीव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिमा बना चुके हैं. ओडिशा में कोरोना के मद्देनजर शहर के पंडालों पर दुर्गा के दर्शन पर प्रतिबंध है. सिर्फ पुजारियों को नियमानुसार पूजा अर्चना की अनुमति है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें