scorecardresearch
 

युवा चेहरों पर कांग्रेस की नजर, कन्हैया और जिग्नेश 28 सितंबर को होंगे पार्टी में शामिल!

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार जल्द ही कांग्रेस (Congress) पार्टी में शामिल होंगे. इसके अलावा, गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी भी हाथ का दामन थाम सकते हैं.

जिग्नेश मेवानी और कन्हैया कुमार जिग्नेश मेवानी और कन्हैया कुमार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कन्हैया कुमार 28 सितंबर को कांग्रेस में होंगे शामिल
  • जिग्नेश मेवानी भी थाम सकते हैं कांग्रेस का दामन

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार जल्द ही कांग्रेस (Congress) पार्टी में शामिल होंगे. इसके अलावा, गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी भी हाथ का दामन थाम सकते हैं. सूत्रों के अनुसार, कन्हैया कुमार 28 सितंबर को कांग्रेस में शामिल होंगे, जबकि जिग्नेश भी उसी दिन पार्टी में शामिल हो सकते हैं या फिर 2 अक्टूबर को कांग्रेस में जा सकते हैं. दोनो नेताओं की मुलाकात पिछले दिनों कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से भी हो चुकी है.

सूत्रों के अनुसार, जिग्नेश मेवानी के कांग्रेस में शामिल होने से गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल भी खुश हैं. जिग्नेश 28 सितंबर या फिर 2 अक्टूबर को कांग्रेस में शामिल होंगे. कांग्रेस सूत्रों की मानें, तो पार्टी ने बिहार के विधानसभा चुनाव के दौरान भी कन्हैया कुमार को साथ आने का ऑफर दिया था. लेकिन तब ये संभव नहीं हो सका था. 

बेगुसराय सीट से चुनाव हार चुके हैं कन्हैया

जेएनयू के पूर्व छात्रनेता कन्हैया कुमार के लिए कांग्रेस के पास प्लान है, जिसपर अमल किया जाना है. कन्हैया पिछला लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं. हालांकि, बिहार के बेगुसराय सीट से चुनाव लड़ चुके कन्हैया को बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पराजित किया था. दिल्ली में जेएनयू कैंपस में लगे विवादित नारे के दौरान कन्हैया कुमार सुर्खियों में आए थे. उस समय वह जेएनयूएसयू के अध्यक्ष थे. इसके बाद से ही कन्हैया कुमार लगातार चर्चा में बने रहे. वह केंद्र सरकार के खिलाफ भी निशाना साधते रहते हैं. 

युवा चेहरों को साथ जोड़ने की कोशिश

सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस युवा चेहरों को अपने साथ जोड़ने की कवायद में जुटी हुई है. कुछ समय पहले राहुल गांधी ने भी नेताओं को पार्टी में लाने के लिए कहा था. एक वर्चुअल मीटिंग को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि पार्टी को ऐसे नेताओं की जरूरत है जोकि निडर हों. ऐसे नेता जो बाहर हैं, उन्हें कांग्रेस में लेकर आएं और जो पार्टी में डर रहे हैं, वे आरएसएस के हैं, उन्हें पार्टी से बाहर करो. इसके बाद माना जा रहा था कि कांग्रेस में कई ऐसे युवा चेहरे और नेता शामिल हो सकते हैं, जोकि समय-समय पर बीजेपी और केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें