scorecardresearch
 

RCP पर ललन का वार, बोले- डूबता जहाज नहीं JDU, डुबोने वालों का नीतीश ने किया इलाज

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि आरसीपी सिंह जेडीयू के बारे में जानते क्या हैं. आरसीपी सिंह कह रहे हैं कि जनता दल यूनाइटेड डूबता हुआ जहाज है, मगर आने वाले वक्त में उनको पता चल जाएगा कि जेडीयू भागता हुआ जहाज है. आरसीपी सिंह सत्ता से बेदखल हो गए हैं इसीलिए उनको तकलीफ हो रही है.

X
ललन सिंह ने प्रेस वार्ता कर आरसीपी सिंह पर हमला किया है.
ललन सिंह ने प्रेस वार्ता कर आरसीपी सिंह पर हमला किया है.

जनता दल (यू) छोड़ने के बाद रामचंद्र प्रसाद सिंह (RCP) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करने पर दूसरे दिन रविवार को पार्टी ने गरम तेवर दिखाए हैं. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह (ललन) ने प्रेस वार्ता की और आरसीपी सिंह पर जमकर हमला बोला. ललन ने यहां तक कह दिया कि आरसीपी सिंह जदयू की ABCD भी नहीं जानते हैं. जेडीयू डूबता नहीं, दौड़ता जहाज है. इसके साथ ही साफ किया है कि अब जेडीयू मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होगा.

बीजेपी के साथ जेडीयू के रिश्ते और मोदी कैबिनेट शामिल होने के सवाल पर ललन सिंह ने कहा कि बीजेपी के साथ सब ठीक है. हमने कल (शनिवार) एनडीए के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार को वोट दिया है. वहीं, आगे बीजेपी से गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि 2024 और 2025 में जदयू बीजेपी के साथ रहेगा या नहीं... भविष्य में या 2029 में क्या होगा, इसके बारे में हम अभी कैसे प्रतिबद्ध हो सकते हैं.

मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होगी जेडीयू

ललन सिंह ने कहा कि बीजेपी के साथ ऑल इज वेल है. हम केंद्र में कैबिनेट में शामिल नहीं होंगे. 2019 में पहले ही तय हो गया था कि जदयू केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगा. ललन ने आगे कहा कि हमारे खिलाफ षड्यंत्र हो रहे हैं. पहले चिराग पासवान मॉडल लाया गया. अब एक और मॉडल लाने की तैयारी हो रही थी. मगर जेडीयू के खिलाफ कोई षड्यंत्र नहीं चलेगा. 

आरसीपी को लेकर बीजेपी की तरफ इशारा भी किया

उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह जनता दल यूनाइटेड के बारे में जानते क्या हैं. आरसीपी सिंह कह रहे हैं कि जनता दल यूनाइटेड डूबता हुआ जहाज है, मगर आने वाले वक्त में उनको पता चल जाएगा कि जनता दल यूनाइटेड भागता हुआ जहाज है. उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह सत्ता से बेदखल हो गए हैं इसीलिए उनको तकलीफ हो रही है. उन्होंने बीजेपी का नाम लिए बिना कहा कि आरसीपी सिंह का तन जनता दल यूनाइटेड में था, मगर मन कहीं और था.

अब जेडीयू में कोई षड्यंत्र नहीं चलेगा

उन्होंने कहा कि जदयू एक नौकायन जहाज है, कुछ लोग इसे नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं. नीतीश कुमार ने उन लोगों की पहचान की है और मरम्मत कर दी है. अब जहाज दौड़ेगा. उन्होंने आगे कहा कि सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ साजिश की गई थी और इसलिए हमने (विधानसभा में) केवल 43 सीटें जीतीं लेकिन अब हम सतर्क हैं. 2020 के चुनाव में एक मॉडल चिराग पासवान के नाम से सामने आया, जबकि दूसरा वर्तमान में बनाया जा रहा है.

ललन ने कहा कि आरसीपी सिंह सत्ता के साथी रहे हैं, संघर्ष के साथी नहीं. उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह जानते क्या हैं जेडीयू और समता पार्टी के घटन के बारे में. उनको तो ABCD भी नही पता है. ललन ने कहा कि कोई षड्यंत्र यहां चलने वाला नहीं है. एक षड्यंत्र मॉडल चिराग पासवान के तौर पर खड़ा किया गया था, फिर किया गया है. 

इस्तीफा देते वक्त क्या कहा था आरसीपी सिंह ने....

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कभी दांया हाथ माने जाने वाले जनता दल यूनाइटेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरपीसी सिंह ने शनिवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने नालंदा में अपने गांव मुस्तफापुर में इस इस्तीफे का ऐलान किया. हाल में जदयू ने उन्हें तीसरी बार राज्यसभा भेजने से मना कर दिया था, जिसकी वजह से उन्हें मोदी सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा. 

आरसीपी सिंह ने कहा था कि इस पार्टी में कुछ नहीं बचा है. वो (JDU) डूबता हुआ जहाज है. हमसे चिढ़ है, तो हमसे निपटो, हमारे पास विकल्प खुले हुए हैं. वर्तमान समय में मुझ पर अकूत संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया गया. ये उनकी छवि को बदनाम करने की कोशिश थी. जब आरसीपी सिंह से पूछा गया कि क्या नीतीश कुमार देश के प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं? इस सवाल पर उन्होंने टो टूक जवाब देते हुए कहा, '7 जनम में नहीं बनेंगे, इस जनम की बात तो छोड़ दो.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें