scorecardresearch
 

भारत और चीन के बीच आज चुशूल में 11वें दौर की बातचीत, डिसएंगेजमेंट पर चर्चा

एलएसी पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के बीत कमांडर स्तर की आज बातचीत होगी. पूर्वी लद्दाख के चुसूल में दोनों देशों के बीच यह 11वें दौर की बातचीत होगी.

भारत और चीन के बीच कई इलाकों में डिसएंगेजमेंट हुआ है (फाइल फोटो) भारत और चीन के बीच कई इलाकों में डिसएंगेजमेंट हुआ है (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चुशूल में होने वाली है दोनों देशों के बीच बैठक
  • पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच आज से चुशूल में 11वें दौर की बातचीत, डिसएंगेजमेंट पर होगी बात पर होगी बात

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के बीत कमांडर स्तर की आज बातचीत होगी. पूर्वी लद्दाख के चुशूल में दोनों देशों के बीच यह 11वें दौर की बातचीत होगी. इस बातचीत के दौरान पूर्वी लद्दाख में डिसइंगेजमेंट पर बात होगी. इससे पहले दोनों देशों के बीच 10वें दौर की बातचीत 20 फरवरी को हुई थी.

इस बातचीत में भारतीय सेना की तरफ से लेह स्थित 14वीं कोर (फायर एंड फ्यूरी कोर) के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन नेतृत्व करेंगे, जबकि चीन की तरफ से पीएलए-सेना के दक्षिणी झिंगज्यांग डिस्ट्रिक के कमांडर नेतृत्व करेंगे. दोनों देशों के बीच डेप्सांग, गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स वाले इलाके में डिसइंगेजमेंट के लिए बातचीत होगी.

भारतीय पक्ष ने स्पष्ट कर दिया है कि वह डिसएंगेजमेंट पर तभी सहमत होगा, जब दोनों पक्ष राजी हो और आपसी सुरक्षा चिंताओं का समाधान हो. नौवें दौरे की मीटिंग के बाद दोनों देशों ने पैंगोंग त्सो लेक से सटे इलाकों से डिसएंगेजमेंट कर लिया है. लेकिन अभी कुछ विवादित इलाकों में डिसएंगेजमेंट के साथ साथ पूरी तरह से डि-एस्कलेशन होना बाकी है.

इससे पहले 20 फरवरी को हुई 10वें दौर की बातचीत के बाद भारत और चीन ने एक संयुक्त बयान जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि पैंगोंग झील क्षेत्र से सैन्य वापसी, LAC पर अन्य मुद्दों के समाधान की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. 

दोनों देशों ने कहा था, 'इस बातचीत में भी भारत ने तनाव कम करने के लिए हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और डेपसांग क्षेत्रों से सैनिकों की जल्द वापसी पर जोर दिया था.' 16 घंटे तक चली 10वें दौर की बातचीत के बाद बयान में कहा गया था कि पैंगोंग इलाके से सैनिकों की वापसी ने बातचीत के नए रास्ते खोले हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें