scorecardresearch
 

Covid Vaccine for Kids: अब 12 साल के बच्चों को लगेगी वैक्सीन, जानिए अपने काम के 6 बड़े सवालों के जवाब

Covid Vaccine for Kids: 16 मार्च से देश में 12 से 14 साल की उम्र के बच्चों को भी कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने इसकी जानकारी दी है. इसके साथ ही 16 मार्च से 60 साल से ऊपर के सभी बुजुर्गों को बूस्टर डोज भी लगाई जाएगी.

X
12 से 14 साल का वैक्सीनेशन 16 मार्च से शुरू होगा. (फाइल फोटो) 12 से 14 साल का वैक्सीनेशन 16 मार्च से शुरू होगा. (फाइल फोटो)
0:50
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2008, 2009, 2010 में जन्मे बच्चों को लगेगी वैक्सीन
  • 12 से 14 साल के बच्चों को कोर्बीवैक्स लगाई जाएगी

Covid Vaccine for Kids: देश में अब 15 साल से छोटे बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन भी शुरू होने जा रहा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने ट्वीट कर बताया कि 16 मार्च से 12, 13 और 14 साल के बच्चों को भी कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी. इस आयुवर्ग के बच्चों की अनुमानित संख्या 7.5 करोड़ के आसपास है. 

16 मार्च से कौन लगवा सकेगा वैक्सीन?

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 12, 13 और 14 साल की उम्र के बच्चे 16 मार्च से कोरोना की वैक्सीन लगवा सकेंगे. जिन बच्चों का जन्म 2008, 2009 और 2010 में हुआ है, वो सभी वैक्सीन लगवा सकते हैं. 

इन बच्चों को कौनसी वैक्सीन लगाई जाएगी?

केंद्र सरकार के मुताबिक, 12 से 14 साल की आयुवर्ग के बच्चों को कोर्बीवैक्स वैक्सीन (Corbevax) लगाई जाएगी. इस वैक्सीन को हैदराबाद स्थित फार्मा कंपनी बायोलॉजिकल ई (Biological E) ने बनाया है. इस वैक्सीन को पिछले महीने ही 12 से 18 साल की आयुवर्ग के बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी मिली है. 

ये भी पढ़ें-- Sputnik light vaccine: एक वैक्सीन, ट्रिपल सुरक्षा... जानिए कैसे काम करेगी सिंगल डोज वैक्सीन, कितनी प्रभावी

कितनी सेफ है ये वैक्सीन?

पिछले साल सितंबर में बायोलॉजिकल ई को अपनी वैक्सीन का ट्रायल 5 से 18 साल की आयुवर्ग के बच्चों पर करने की अनुमति मिली थी. इस आयुवर्ग में हुए फेज 2 और 3 के क्लीनिकल ट्रायल में ये वैक्सीन सुरक्षित और असरदार साबित हुई है. 

कैसे लगेगी ये वैक्सीन?

भारत में अभी जिस तरह से कोवैक्सीन और कोविशील्ड लगाई जा रही है, ये वैक्सीन भी वैक्सीन लगाई जाएगी. ये भी इंटरमस्कुलर वैक्सीन है, जिसे इंजेक्शन के जरिए शरीर में डाला जाएगा. इस वैक्सीन की दो डोज में 28 दिन का अंतर रहेगा. 

12 साल से ऊपर अभी कौन-कौन सी वैक्सीन

1. कोवैक्सीनः भारत बायोटेक ने 2 से 18 साल तक के बच्चों पर कोवैक्सीन (Covaxin) का ट्रायल किया था. इसे अभी 12 साल से ऊपर के बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है. कोवैक्सीन अभी 15 से 18 साल के किशोरों को लगाई जा रही है.

2. जायकोव-डीः जायडस कैडिला की जायकोव-डी (Zy-COV-D) को पिछले साल अगस्त में मंजूरी मिली थी. ये वैक्सीन 12 साल से ऊपर वालों के लिए है. ये वैक्सीन अभी वयस्कों को ही दी जा रही है. 18 से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है.

3. कोर्बीवैक्सः बायोलॉजिकल ई की वैक्सीन कोर्बीवैक्स को सरकार ने दिसंबर 2021 में इस्तेमाल की मंजूरी दी थी. फरवरी में इसे 12 से 18 साल के बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी भी मिल गई है. 12 से 14 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन में यही वैक्सीन दी जाएगी.

4. कोवोवैक्सः इस वैक्सीन को पुणे की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स के साथ मिलकर बनाया है. कोवोवैक्स (Covovax) को भी दिसंबर में मंजूरी मिल गई गई थी. इसे इसी महीने 12 से 17 साल के बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी मिली है.

वैक्सीनेशन प्रोग्राम में और क्या नया?

12 से 14 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू होने के अलावा अब सरकार ने 60 साल से ऊपर के सभी बुजुर्गों को वैक्सीन की तीसरी डोज या बूस्टर डोज भी लगाई जाएगी. सभी बुजुर्गों को 16 मार्च से ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी. अभी तक 60 साल से ऊपर के उन बुजुर्गों को बूस्टर डोज लगाई जा रही थी, जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें