scorecardresearch
 

Corbevax: भारत में बच्चों के लिए अब तीन वैक्सीन, 12 से 18 साल के बच्चों के लिए Corbevax को मंजूरी, जानिए कैसे लगेगी-कितनी प्रभावी?

भारत में बच्चों के लिए तीसरी वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है. DCGI ने 12 से 18 साल के बच्चों के लिए Corbevax को आपातकालीन इस्तेमाल की हरी झंडी दिखा दी है.

X
कोर्बेवैक्स वैक्सीन को Biological E Limited ने तैयार किया है कोर्बेवैक्स वैक्सीन को Biological E Limited ने तैयार किया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोर्बेवैक्स वैक्सीन को Biological E Limited ने तैयार किया है
  • Corbevax को 90 फीसदी तक प्रभावी बताया गया है

कोविड से लड़ने के लिए बच्चों को एक और हथियार मिलने जा रहा है. भारत में Corbevax कोरोना वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी (emergency use authorisation) मिल गई है. इसे 12 से 18 साल के बच्चों को लगाया जा सकेगा. हालांकि, सरकार ने अभी तक 15 साल से कम उम्र वालों को टीका लगाने पर कोई फैसला नहीं लिया है. यानी इससे छोटे बच्चों पर मंजूरी के बाद इस टीके को लगाया जाएगा.

बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर भले मंद पड़ गई हो लेकिन आगे भी कोविड कभी परेशान ना करे, इसको लेकर कदम लगातार उठाए जा रहे हैं.

भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से मंजूरी पाने वाला कोर्बेवैक्स तीसरा टीका बन गया है जिसे बच्चों को लगाया जाएगा. इससे पहले जाइडस कैडिला के जायकोव-डी और भारत बायोटेक के कोवैक्सीन को मंजूरी दी गई थी.

यह भी पढ़ें - DCGI ने 12 से 18 साल तक के बच्चों की कोरोना वैक्सीन Corbevax को दी फाइनल मंजूरी

Corbevax को Biological E Limited कंपनी ने बनाया है. यह पहला ऐसा स्वदेशी टीका है जो कोरोना से लड़ने वाला Receptor Binding Domain (RBD) सब-यूनिट वैक्सीन है. Biological E. Limited की बात करें तो यह दुनिया के बड़े वैक्सीन निर्माताओं में से एक है. वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर Biological E. Limited की मैनेजिंग डायरेक्टर महिमा डाल्टा ने खुशी जाहिर की है.

Corbevax कितनी प्रभावी है?

बता दें कि 3 हजार लोगों पर हुए Corbevax के दो तीसरे फेज के क्लीनिकल ट्रायल से पता चला कि वैक्सीन 90 फीसदी तक प्रभावी है. मैनेजिंग डायरेक्टर महिमा डाल्टा ने एक इंटरव्यू में यह भी कहा था कि 25 वैक्सीन साइट्स पर कोविशील्ड से तुलना वाले ट्रायल में देखा गया कि Corbevax की प्रतिरक्षाजनकता (immunogenicity) कोविशील्ड से ज्यादा है.

कोर्बेवैक्स कैसे करती है काम

Corbevax वैक्सीन की दो खुराक मांसपेशियों में लगाई जाती है. इनका गैप 28 दिन होना चाहिए. इसे 2 से 8 डिग्री सेल्सियम के तापमान में स्टोर किया जाता है. इसके 20 खुराक और 10 खुराक के पैक आएंगे. एक सिंगल डोज में 0.5ml वैक्सीन लगनी होगी. 

कोरोना के मामले अब घट रहे

देश में कोरोना का कहर अब घटने लगा है. भारत में पिछले 24 घंटों में COVID19 के 13,405 नए मामले आए और 235 लोगों की कोरोना से मौत हुई. वहीं 34,226 लोग कोरोना से ठीक हुए. फिलहाल देश में कोविड के 1 लाख 81,075 हजार एक्टिव मामले बचे हैं. भारत में अबतक 175.83 करोड़ वैक्सीन लगाई जा चुकी हैं. सोमवार को 35 लाख से ज्यादा वैक्सीन लगी थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें