scorecardresearch
 

CBI ने 1 करोड़ रिश्वत लेने में रेलवे अफसर समेत 3 को किया गिरफ्तार, काम दिलाने के नाम पर करते थे उगाही

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 1985 के एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान को 1 करोड़ रुपये की रिश्वत के मामले में पकड़ा है. महेंद्र सिंह के साथ दो अन्य लोगों को भी पकड़ा गया है. इनके पास से एक करोड़ रुपये भी बरामद कर लिया गया है.

रिश्वत मामले में CBI एक्शन रिश्वत मामले में CBI एक्शन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिश्वत के आरोप में रेलवे अधिकारी गिरफ्तार
  • सीबीआई ने दो अन्य लोगों को भी किया अरेस्ट
  • आरोपियों के पास से 1 करोड़ रुपये बरामद-CBI

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान को 1 करोड़ रुपये की रिश्वत के मामले में पकड़ा है. महेंद्र सिंह के साथ दो अन्य लोगों को भी पकड़ा गया है. इनके पास से एक करोड़ रुपये भी बरामद कर लिया गया है. 1985 बैच के अधिकारी महेंद्र सिंह को रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. 

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि रेलवे में हाल के दिनों में इतनी बड़ी मात्रा में रिश्तव लेते हुए रंगे हाथ पकड़े जाने का यह बड़ा मामला है. अधिकारी नॉर्दन ईस्टर्न फ्रंटियर रेलवेज में काम दिलाने के नाम पर रिश्वत की मांग कर रहा था. CBI ने पांच राज्यों में 20 से ज्यादा जगहों पर छापेमारी की है.

मिली जानकारी के अनुसार सीबीआई ने 1 करोड़ रुपये का रिश्वत लेने के आरोप में महेंद्र सिंह चौहान को गिरफ्तार किया है. महेंद्र सिंह चौहान पर नॉर्दन ईस्टर्न फ्रंटियर रेलवेज में एक प्राइवेट कंपनी को काम दिलाने के नाम पर रिश्वत मांगने का आरोप है. 

जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है वो महेंद्र सिंह चौहान के नाम पर रिश्वत ले रहे थे. सीबीआई सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया कि इसकी जानकारी मिली थी कि महेंद्र सिंह चौहान पूर्वोत्तर रेलवे में काम दिलाने के नाम पर एक कंपनी से 1 करोड़ रुपये की रिश्वत मांग रहा है. बाद में जाल बिछाया गया. महेंद्र सिंह चौहान के दो कथित सहयोगी जब रिश्वत ले रहे थे, उसी समय सीबीआई के अफसर मौके पर पहुंच गए और उन्हें धर दबोचा. सीबीआई अफसरों को संदेह है कि महेंद्र सिंह चौहान ने पहले भी रिश्वत ली होगी. 

हवाला मामले में 2 चीनी नागरिक गिरफ्तार

इस बीच, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मनी लॉन्ड्रिंग जांच से जुड़े एक कथित हवाला रैकेट के 1,000 करोड़ रुपये के घोटाले में दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया है.

देखें: आजतक LIVE TV

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी ने 4 जनवरी को चार्ली पेंग उर्फ लुओ सांग (42) और कार्टर ली को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार किया. उन्हें शनिवार को यहां एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया जिसने उन्हें 14 दिनों की हिरासत में भेज दिया.पेंग के खिलाफ पिछले साल के आयकर विभाग जांच कर रहा है. 2018 में उसके खिलाफ दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने प्राथमिकी दर्ज की थी. ED इसी मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें