scorecardresearch
 

इस्तीफा देते वक्त भावुक हुए येदियुरप्पा, रोने लगे समर्थक, मंत्री ने बताया चौंकाने वाला फैसला

मुख्यमंत्री बीएस. येदियुरप्पा ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. लंबे वक्त से कयास लगाए जा रहे थे कि येदियुरप्पा अपना पद छोड़ सकते हैं, अब सोमवार को जब सरकार के दो साल पूरे हुए तब उन्होंने अचानक इस्तीफे का ऐलान कर दिया. 

इस्तीफे के बाद रोने लगे येदियुरप्पा के समर्थक इस्तीफे के बाद रोने लगे येदियुरप्पा के समर्थक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्यमंत्री पद से बीएस. येदियुरप्पा का इस्तीफा
  • भावुक हुए समर्थक, नए सीएम के लिए मंथन

कर्नाटक (Karnataka) की सियासत एक बार फिर सुर्खियों में आ गई है. मुख्यमंत्री बीएस. येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. लंबे वक्त से कयास लगाए जा रहे थे कि येदियुरप्पा अपना पद छोड़ सकते हैं, अब सोमवार को जब सरकार के दो साल पूरे हुए तब उन्होंने अचानक इस्तीफे का ऐलान कर दिया. 

भावुक हुए सीएम येदियुरप्पा

बीएस. येदियुरप्पा ने एक कार्यक्रम में इस्तीफे की बात कही. इस दौरान वह भावुक भी हुए. बीएस. येदियुरप्पा ने कहा कि वह कर्नाटक के लोगों के लिए काम करते रहेंगे, वह कई अग्निपरीक्षाओं से होकर गुजरे हैं. आगे भी वह पार्टी को मजबूत बनाने में लगे रहेंगे. 

रोने लगे येदियुरप्पा के समर्थक...

येदियुरप्पा की गिनती कर्नाटक के बड़े नेताओं में होती है, ऐसे में अब जब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा हुआ तो बीएस. येदियुरप्पा के समर्थक भी भावुक हुए. बेंगलुरु में येदियुरप्पा के समर्थक रोते बिलखते हुए नज़र आए. 



कर्नाटक सरकार में मंत्री के. सुधाकर ने बीएस. येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद कहा कि ये हमारे लिए चौंकाने वाला फैसला है. येदियुरप्पा ने उन्हें बताया था कि उन्हें 26 जुलाई तक हाईकमान का फैसला मिलेगा. लेकिन येदियुरप्पा ने अभी सिर्फ मुख्यमंत्री पद छोड़ा है, राजनीति नहीं छोड़ी है. 

क्या बोले बीएस. येदियुरप्पा

आपको बता दें कि इस्तीफा देने के बाद बीएस. येदियुरप्पा ने कहा कि मुझपर किसी ने कोई दबाव नहीं बनाया है. मैंने खुद इस्तीफा दिया है, अब वह बीजेपी को वापस सत्ता में लाने के लिए काम करेंगे. नया मुख्यमंत्री कौन होगा, मैंने आलाकमान को कोई नाम नहीं सुझाया है. 

बीएस. येदियुरप्पा बोले कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जेपी नड्डा, अमित शाह का शुक्रिया अदा करते हैं, जिन्होंने दो साल कर्नाटक की सेवा करने का अवसर दिया. गौरतलब है कि बीएस. येदियुरप्पा का इस्तीफा तब आया है, जब राज्य में बीजेपी की सरकार को दो साल पूरे हुए हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें