scorecardresearch
 

स्पुतनिक वैक्सीन लगवाने के लिए खर्च करने पड़ेंगे 1195 रुपये

अपोलो की तरफ से स्पुतनिक वी वैक्सीन को लेकर भी जरूरी जानकारी दी गई है. कहा गया है कि अपोलो अस्पताल में जून के दूसरे हफ्ते से स्पुतनिक वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी.

अपोलो में जून के दूसरे हफ्ते से लगेगी स्पूतनिक वैक्सीन ( फोटो-Reuters) अपोलो में जून के दूसरे हफ्ते से लगेगी स्पूतनिक वैक्सीन ( फोटो-Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जून के दूसरे हफ्ते से लगेगी स्पुतनिक वैक्सीन
  • अपोलो अस्पताल ने बताया आगे का रोडमैप
  • डॉक्टर्स रेडी ने जारी किया आधिकारिक बयान

कोरोना के कम होते केस के बीच टीकाकरण पर सारा फोकस किया जा रहा है. जोर दिया जा रहा है कि समय रहते सभी को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाए और दूसरी कंपनियों से भी करार हो. इसी कड़ी में अपोलो अस्पताल की तरफ से बड़े स्तर पर टीकाकरण अभियान को चलाया गया है. निजी सेक्टर में सबसे बड़े वैक्सिनेटर के रूप में उभरा अपोलो अस्पताल अब रूस की स्पूतनिक वैक्सीन को भी जल्द उपलब्ध करवाने जा रहा है.कंपनी ने बताया है कि स्पुतनिक वैक्सीन लोगों को 995 रुपये में लगने जा रही है. वहीं 200 रुपये एडमिनिस्ट्रेटिव चार्ज के तौर पर लगाए जाएंगे. 

अपोलो अस्पताल का आधिकारिक बयान

बयान में अपोलो अस्पताल की एग्जीक्यूटिव वाइस चेयरमेन शोभना कामिनी ने कहा है कि - अपोलो अस्पताल ने देश की 80 जगहों पर 10 लाख कोरोना वैक्सीन लगा दी हैं. हमारी तरफ से प्राथमिकता पर फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया है, कॉरपोरेट दुनिया के साथियों को भी हमारी तरफ से समय रहते टीका लगा है. हम आगे भी राज्य और केंद्र सरकार का समर्थन करते रहेंगे, हमारी तरफ से टीकाकरण की रफ्तार को भी और ज्यादा बढ़ाया जाएगा.

स्पुतनिक को लेकर जरूरी जानकारी

अपोलो की तरफ से स्पुतनिक वी वैक्सीन को लेकर भी जरूरी जानकारी दी गई है. कहा गया है कि अपोलो अस्पताल में जून के दूसरे हफ्ते से स्पुतनिक वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी. अपोलो ने कहा है कि हम मानते हैं कि जब तक सभी को टीका ना लग जाए, तब तक कोई भी सुरक्षित नहीं है. अब अपोलो अस्पताल की तरफ से स्पुतनिक को लेकर ये जानकारी देना काफी मायने रखता है. इस समय देश का नौजवान इस रूसी वैक्सीन पर काफी भरोसा जता रहा है, ऐसे में अगर जून के दूसरे हफ्ते से इसे लगाने का सिलसिला भी शुरू हो जाता है, तो कोरोना की लड़ाई में यो भी एक निर्णायक मोड़ होने जा रहा है.

क्लिक करें- अगस्त से देश में बनने लगेगी ‘Sputnik-V' वैक्सीन, तैयार होंगी इतने करोड़ डोज 

डॉक्टर्स रेडी ने स्पुतनिक पर क्या कहा है?

वैसे स्पुतनिक वी पर तो डॉक्टर्स रेडी की तरफ से भी एक आधिकारिक बयान जारी किया गया है. आपको बता दें कि भारत में स्पुतनिक वैक्सीन के जरिए टीकाकरण करने के लिए अपोलो अस्पताल ने डॉक्टर्स रेडी से हाथ मिलाया है. दोनों मिलकर देश के कई हिस्सों तक इस रूसी वैक्सीन को पहुंचाने का काम करने जा रहे हैं. लेकिन हाल ही में कई दूसरी कंपनियों की तरफ से दावा कर दिया गया कि उनकी तरफ से भी स्पूतनिक वैक्सीन को लेकर करार हुए हैं. अब इस पर डॉक्टर्स रेडी की तरफ से साफ कर दिया गया है कि उन्होंने किसी के साथ इस प्रोजेक्ट के सिलसिले में  हाथ नहीं मिलाया है, वहीं कंपनी की तरफ से किसी तीसरी पार्टी को भी भारत में स्पुतनिक वैक्सीन लाने की जिम्मेदारी नहीं दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×