scorecardresearch
 

नवीन पटनायक से होगी आंध्र के सीएम की मुलाकात, नेराडी बैराज समेत अहम मुद्दों पर चर्चा

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के साथ बैठक करेंगे. यहां ओडिशा और आंध्र प्रदेश के बीच कोटिया के 28 में से 16 गांवों के मालिकाना हक को लेकर जारी विवाद का मुद्दा उठाया जा सकता है.

X
Naveen patnaik and Jagan Mohan Reddy Naveen patnaik and Jagan Mohan Reddy
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जगन मोहन रेड्डी से मिलेंगे नवीन पटनायक
  • नेराडी बैराज समेत कई मुद्दों पर होगी चर्चा

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और आंध्र प्रदेश के उनके समकक्ष वाई एस जगन मोहन रेड्डी मंगलवार को एक बैठक करेंगे. भुवनेश्नर में इस बैठक में दोनों राज्यों के बीच विवादित सीमा के साथ-साथ अंतर-राज्यीय नदी परियोजनाओं पर चर्चा की संभावना है.

लोक सेवा भवन में शाम पांच बजे से होने वाली बैठक में कोरापुट जिले के गांवों के कोटिया क्लस्टर, वामसाधारा नदी पर नेराडी बैराज के निर्माण और पोलावरम मल्टी के विवाद पर बातचीत हो सकती है .

16 गांवों के मालिकाना हक पर चर्चा

इसके अलावा ओडिशा और आंध्र प्रदेश के बीच कोटिया के 28 में से 16 गांवों के मालिकाना हक को लेकर जारी विवाद का मुद्दा भी उठाया जा सकता है. हालांकि कोटिया मामला विचाराधीन है, लेकिन अधिकारियों को उम्मीद है कि दोनों मुख्यमंत्री इस मामले को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाने की कोशिश करेंगे.

दोनों राज्यों ने इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और कोर्ट ने 2006 में उन्हें यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा था. हालांकि, आंध्र प्रदेश सरकार ने इस साल फरवरी में कोरापुट जिले के कोटिया ग्राम पंचायत के तीन गांवों के नाम बदलकर पंचायत चुनाव कराए हैं. इसके बाद अगस्त में, सुप्रीम कोर्ट ने दोनों राज्यों को द्विपक्षीय चर्चा के माध्यम से कोटिया मुद्दे को हल करने के लिए कहा था.

ओडिशा पुलिस ने सीमावर्ती गांवों में लगाए थे बैरिकेड्स

वहीं अन्य जिलों में सीमा विवाद हैं, जिन पर दोनों राज्य अपने अधिकारी का दावा करते हैं. उन पर भी चर्चा किए जाने की उम्मीद है. हाल ही में, तनाव तब बढ़ गया जब ओडिशा पुलिस ने आंध्र प्रदेश के अधिकारियों द्वारा घुसपैठ को रोकने के लिए सीमावर्ती गांवों में बैरिकेड्स लगा दिए थे.

अधिकारियों ने कहा कि दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच प्रस्तावित बैठक से अंतरराज्यीय नदी परियोजनाओं को लेकर विवाद भी सुलझने की उम्मीद है. यहां आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नेराडी बैराज के काम को आगे बढ़ाने के लिए पटनायक से तत्काल हस्तक्षेप की मांग कर सकते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें