scorecardresearch
 

'राष्ट्रपत्नी' वाले बयान पर बुरा फंसे अधीर रंजन, राष्ट्रीय महिला आयोग ने भेजा नोटिस

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने जब से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर विवादित बयान दिया है, उनकी मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रहीं. अब राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्हें नोटिस भेज दिया है. सोनिया गांधी से भी रंजन के खिलाफ एक्शन लेने की मांग हुई है.

X
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अधीर रंजन बोले- मेरी जुबान फिसल गई थी
  • 'बीजेपी राई का पहाड़ बनाने का काम कर रही'

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर जो विवादित टिप्पणी की है, उसने राजनीतिक गलियारों में सियासी भूचाल ला दिया है. बीजेपी तो हंगामा कर ही रही है, अब राष्ट्रीय महिला आयोग भी एक्शन में आ गई है. NCW की तरफ से अधीर रंजन चौधरी को नोटिस भेजा गया है. उनके बयान की निंदा तो की ही गई है, इसके अलावा 3 अगस्त को उन्हें सफाई देने के लिए बुलाया भी गया है.

नोटिस में स्पष्ट कहा गया है कि अधीर रंजन चौधरी को अपने बयान के लिए लिखित सफाई देनी होगी. उन्हें तीन अगस्त को सुबह 11.30 बजे NCW ऑफिस बुलाया गया है. वैसे NCW ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी एक चिट्ठी लिखी है. मांग की गई है कि अधीर रंजन चौधरी के खिलाफ एक्शन लिया जाए. अब जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस के लोकसभा नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'राष्ट्रपत्नी' कह दिया था. बाद में अधीर ने इसे अपनी जुबान फिसलना बताया था.

उन्होंने कहा था कि मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था. लेकिन बीजेपी सोनिया गांधी पर निशाना क्यों साध रही है. मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि आगे आकर मुझे लड़े. हमारी नेता, जो महिला हैं, उन्हें टारगेट न करें. मैं फिर कह रहा हूं कि गलती हुई है. मैं बंगाली हूं. मेरी हिंदी अच्छी नहीं है. मुझे संसद में बोलकर स्पष्टीकरण देने दीजिए. इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने कहा, हिंदुस्तान के राष्ट्रपति हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं. एक बात मुंह से निकल गई. जुबान फिसल गई. लेकिन बीजेपी राई का पहाड़ बना रही है.

वैसे इस विवाद की वजह से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच भी नोकझोंक हो गई. असल में सदन की कार्यवाही जब स्थगति हो गई तब  सोनिया गांधी इस्तीफा दो के नारे लगने लगे. नारेबाजी के बीच सोनिया गांधी वापस लौटीं और रमा देवी के पास गईं. उन्होंने कहा, इस मामले में अधीर रंजन ने माफी मांग ली है. मेरा नाम क्यों लिया जा रहा है. इस पर स्मृति ईरानी सोनिया के पास आईं और उन्होंने सोनिया से कहा, ''मैं आपकी क्या मदद कर सकती हूं, मैं आपका नाम लिया है.'' इस पर सोनिया ने जोर से कहा don't talk to me.

अब इस बारे में जब आजतक ने रमा देवी से बात की तो उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी काफी बौखला गई थीं. उनके मुताबिक सोनिया काफी गुस्से में थीं, उन्हें इस बात की नाराजगी थी कि इस पूरे मामले में उनका नाम घसीटा गया. रमा ने इस बात पर भी जोर दिया कि अगर पार्टी सामने से आकर माफी मांगती है तो उसे स्वीकार कर लिया जाएगा. 

वैसे कांग्रेस इस मुद्दे पर माफी मांगती तो नहीं दिख रही है. अधीर रंजन चौधरी समेत 18 सांसद लोकसभा स्पीकर से मिलकर इस मामले की शिकायत करने वाले हैं. उन सांसदों के निलंबन की मांग होगी जिन्होंने सोनिया गांधी के खिलाफ नारेबाजी की. उनकी तरफ से सीसीटीवी फुटेज देने की मांग भी होगी.                                                                                                                                                                                                                                                                                           

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें