scorecardresearch
 

राम मंदिर पर निर्देश दें पीएम मोदी, मुस्लिम भी सुनेंगे उनकी बात: शिवसेना

शिवसेना ने सामना में लिखा कि पिछले 25 वर्षों में देश की राजनीति में काफी बदलाव आया है, आडवाणी अब मार्गदर्शक मंडल के सदस्य हैं तो देश पर पीएम मोदी का शासन है.

राम मंदिर मुद्दे पर शिवसेना का संपादकीय राम मंदिर मुद्दे पर शिवसेना का संपादकीय

सुप्रीम कोर्ट की राम मंदिर मुद्दे को कोर्ट के बाहर बातचीत से सुलझाने की सलाह के बाद यह मुद्दा एक बार फिर भारतीय राजनीति के केंद्र में हैं. केंद्र और महाराष्ट्र सरकार में बीजेपी की साथी शिवसेना ने गुरुवार को कहा कि राम मंदिर के मुद्दे पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार अपनी योजनाओं को आगे बढ़ा सकती है, क्योंकि इस समय देश में ऐसा माहौल है कि मुस्लिम भी पीएम मोदी के पक्ष में हैं और उनकी बात सुनते हैं.

मोदी के निर्देश की जरुरत
शिवसेना ने सामना में लिखा कि पिछले 25 वर्षों में देश की राजनीति में काफी बदलाव आया है, आडवाणी अब मार्गदर्शक मंडल के सदस्य हैं तो देश पर पीएम मोदी का शासन है. शिवसेना ने लिखा कि राम मंदिर अब बनना चाहिए, इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश की जरुरत है.

मुस्लिम सुनेंगे मोदी की बात
शिवसेना के अनुसार उत्तर प्रदेश में बीजेपी की प्रचंड जीत दर्शाती है कि लोगों की इच्छा है कि राममंदिर जल्द बनें. आज पूरा देश पीएम मोदी की बात सुनता है, और मुस्लिम भी मोदी की बात सुनेंगे.

उन्होंने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट इस मसले पर अपना स्पष्ट फैसला सुना सकता है. लेकिन अगर इस मुद्दे को बाहर सुलझाना है तो अन्ना हजारे, बाबा रामदेव और लालकृष्ण आडवाणी जैसे लोग इस मुद्दे में मदद कर सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें