scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते केस से खलबली, तीन जिलों में लॉकडाउन, मुंबई के लिए नई गाइडलाइन

नए गाइडलाइन्स के अनुसार मुंबई में मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है और ऐसा न करने वालों से 200 रुपए का फाइन वसूला जाएगा. नए गाइडलाइन्स के तहत होम क्वारंटाइन न करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने का फैसला लिया गया है. इसके अलावा शादी-विवाह आदि सार्वजनिक समारोहों पर और अधिक सख्ती बरती गई है.

महाराष्ट्र में बढ़ रहे हैं कोरोना मामले (फाइल फोटो) महाराष्ट्र में बढ़ रहे हैं कोरोना मामले (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्राजील से आने वाले यात्रियों को सांस्थानिक क्वारंटाइन
  • 5 से अधिक मामले होने पर पूरी बिल्डिंग सीज
  • महाराष्ट्र के 3 जिलों में लगा लॉकडाउन
  • BMC ने स्वीकार किया- बढ़ रहे हैं कोरोना मामले

महाराष्ट्र में एक बार फिर कोरोना के बढ़ते केस ने उद्धव सरकार की चिंता बढ़ा दी है. बीते दिनों ही BMC ने स्वीकार किया कि मुंबई में कोरोना मामलों में फिर से वृद्धि होने लगी है. BMC ने ये भी चेतावनी दी थी कि अगर कोरोना मामलों में वृद्धि नहीं रुकी तो मुंबई के लिए सख्त प्रतिबंध लगाने पर मजबूर होना पड़ेगा. उसी कड़ी में BMC ने कोरोना से निपटने के लिए कुछ नई कोरोना गाइडलाइन्स जारी की हैं.

नई गाइडलाइन्स के अनुसार मुंबई में मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है और ऐसा न करने वालों से 200 रुपए का फाइन वसूला जाएगा. नई गाइडलाइन्स के तहत होम क्वारंटाइन न करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने का फैसला लिया गया है. इसके अलावा शादी-विवाह आदि सार्वजनिक समारोहों पर और अधिक सख्ती बरती गई है.

नई गाइडलाइन्स के अनुसार अगर एक बिल्डिंग में पांच से अधिक कोरोना मामले पाए जाते हैं तो उस बिल्डिंग को सीज कर दिया जाएगा. जिन लोगों को होम क्वारंटाइन किया जाएगा उनकी कलाई पर स्टांप लगाया जाएगा. नई गाइडलाइन्स में मुंबई लोकल ट्रेनों को देखकर भी निर्देश दिए गए हैं. अब जो लोग लोकल ट्रेन में मास्क नहीं पहनेंगे, उन्हें दबोचने के लिए 300 मार्शल्स लगाए जाएंगे. नई गाइडलाइन्स में ऐसे सार्वजनिक समारोहों जैसे शादी आदि पर छापे मारने का आदेश दिया गया है जो कोविड नियमों का उल्लंघन कर रहे हों. ब्राजील से आने वाले यात्रियों को सांस्थानिक क्वारंटाइन पर रखा जाएगा. जिन क्षेत्रों में अधिक कोरोना मामले आ रहे हैं, उन जगह कोरोना वायरस की टेस्टिंग संख्या बढ़ाई जाएगी.

मुंबई ही नहीं, पूरे महाराष्ट्र में कोरोना मामलों में वृद्धि देखी जा सकती है. आठ जिले ऐसे हैं जिनमें पिछले हफ्ते में ही औसतन 8 प्रतिशत से अधिक कोरोना मामले सामने आए हैं. ये 8 जिले हैं पुणे, नासिक, नागपुर, वर्धा, यवतमाल, अमरावती, अकोला और बुलढाना. इन आठ जिलों में से तीन जिले ऐसे हैं जिन्होंने आने वाले रविवार के दिन अपने यहां लॉकडाउन की घोषणा कर दी है और आने वाले समय में नाईट कर्फ्यू के पालन के आदेश दे दिए हैं. ये तीन जिले अमरावती, अकोला और यवतमाल हैं.

8 जिलों में कोरोना वायरस मामलों की वृद्धि पर इंडिया टुडे से बातचीत करते हुए महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग के स्टेट सर्विलांस अधिकारी डॉ. प्रदीप आवते (Dr Pradeep Awate) ने कहा है कि ''इन कुछ जिलों में कोरोना वायरस की वृद्धि के कुछ विशेष कारण हैं. एक कारण ये है कि इन क्षेत्रों में पंचायत चुनाव होने हैं. पूरे महाराष्ट्र में करीब 1400 ग्राम पंचायतों में चुनाव होने जा रहे हैं. ज्यादातर मामले विदर्भ इलाके में ही पाए गए हैं. दूसरा कारण ये है कि जिला प्रशासन शादी और बाकी सार्वजनिक समारोहों में इकठ्ठा होने वाली भीड़ को नियंत्रित नहीं रख सके हैं. और तीसरा कारण ये है कि लोग कोरोना नियमों का स्वतः पालन नहीं कर रहे हैं. ऐसा लगता है लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भूल चुके हैं.''

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें