scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में बढ़े कोरोना केस, CM उद्धव ने बुलाई इमरजेंसी बैठक, अकोला में लगे कई प्रतिबंध

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे हरकत में आ गए हैं. सीएम उद्धव ने आज यवतमाल, अमरावती और अकोला जिले के अधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है.

महाराष्ट्र में बढ़े कोरोना के मामले महाराष्ट्र में बढ़े कोरोना के मामले
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यवतमाल, अमरावती और अकोला में बढ़ रहे केस
  • अकोला जिला प्रशासन ने जारी की नई गाइडलाइन

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एक्शन में हैं. सीएम उद्धव ने आज यवतमाल, अमरावती और अकोला जिले के अधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है. इस बैठक से पहले डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा कि लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, इसलिए हम कठोर कदम उठा सकते हैं.

लॉकडाउन के सवाल पर डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा कि हम चाहते हैं कि कोई कठोर कदम उठाने की जरूरत न पड़े, लेकिन लोग बेफ्रिक हो गए हैं और सावधानी नहीं बरत रहे हैं, ऐसे में अगर हमें कठोर कदम उठाने की जरूरत पड़ी तो हम पीछे नहीं हटेंगे. इस पर सरकार की ओर से आखिरी फैसला लिया जाएगा.

इस बीच अकोला जिला प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण कई गतिविधियों पर रोक लगा दी है. अब शादी समारोह में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते हैं. इसके अलावा होटल और रेस्तरां में मास्क और सैनिटाइजर के उपयोग को अनिवार्य कर दिया गया है. साथ ही 5 से लेकर 9वीं क्लास के स्कूल बंद कर दिए गए हैं.

इसके साथ ही कॉलेज को भी बंद कर दिया है. मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाले संस्थानों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया गया है. शादी समारोह रात 10 बजे तक खत्म करने का आदेश दिया गया है. शहर या ग्रामीण इलाके में एक साथ 5 लोग यात्रा नहीं कर सकते हैं.

अकोला जिला प्रशासन ने शादी, समारोह, फेस्टिवल, मीटिंग में सिर्फ 50 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी है. प्रदर्शन और रैली पर फिलहाल रोक लगा दी गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें