scorecardresearch
 

महाराष्ट्र बीजेपी में घमासान, जुबानी जंग के बाद एकनाथ खडसे का CM फडनवीस पर पोस्टर वार

विवादों से घिरे महाराष्ट्र सरकार के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस के बीच विवाद थमने के बजाय बढ़ता जा रहा है. इस विवाद के बीच एक पोस्टर बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे की दूसरी पुण्यतिथि के मौके पर सामने आया है. पोस्टर के जरिये सीएम फडनवीस पर निशाना साधा गया है.

ये पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है ये पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है

विवादों से घिरे महाराष्ट्र सरकार के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस के बीच विवाद थमने के बजाय बढ़ता जा रहा है. इस विवाद के बीच एक पोस्टर बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे की दूसरी पुण्यतिथि के मौके पर सामने आया है. पोस्टर के जरिये सीएम फडनवीस पर निशाना साधा गया है. पोस्टर में एकनाथ खडसे को व्हीलचेयर पर बैठे हुए दिखाया गया है जबकि पीछे से गोपीनाथ मुंडे व्हीलचेयर को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. ये पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

पोस्टर के जरिये फडनवीस पर हमला
इस पोस्टर के जरिये दिखाने की कोशिश की गई है कि एक बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे थे जो अपने से छोटे नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ खड़े रहते थे, उनके लिए मुसीबत में सहारा बनते थे और एक देवेंद्र फड़नवीस हैं जो छोटे नेताओं के साथ मुसीबत में खड़े नहीं हैं. पोस्टर में ये दिखाने की कोशिश की गई है कि फिलहाल महाराष्ट्र के बड़े बीजेपी नेता कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज कर रहे हैं.

समर्थक खडसे के साथ खड़े
दरअसल इस पोस्टर के जरिये संदेश देने की कोशिश की गई है कि आज की तारीख में एकनाथ खडसे के साथ पार्टी नेताओं को खड़े रहना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है. इसके अलावा खडसे के समर्थक भी मुख्यमंत्री के रवैये से नाराज बताए जा रहे हैं. समर्थक चाहते हैं कि फडनवीस एकनाथ का समर्थन करें जिस तरह से पिछले दिनों उन्होंने पंकजा मुंडे के लिए किया था. यानी इस पोस्टर के जरिये बड़े नेताओं को एकनाथ खडसे के साथ खड़े होने के लिए इशारा किया गया है.

आरएसएस ने मामले में हस्तेक्षप से किया इंकार
इस बीच आरएसएस ने एकनाथ मामले पर किसी तरह से हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया है. मनमोहन वैद्य ने कहा कि एकनाथ खडसे मामले में आरएसएस कोई को दखल नहीं देगा. वहीं खडसे को पार्टी से समर्थन नहीं मिलने से नाराज जलगांव नगर पालिका से बीजेपी के 17 पार्षदों ने इस्तीफा देने की धमकी दी है.

विवादों के साये में खडसे
गौरतलब है कि खडसे पर आरोप लगे हैं कि उनके घर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का फोन आया था. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. इसके साथ ही उन पर MIDC की जमीन बेचने पर घोटाले का आरोप लगाया जा रहा है. विपक्षी दल लगातार खडसे के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं. वहीं मंगलवार को मंत्रिमंडल की साप्ताहिक बैठक में खडसे ने भाग नहीं लिया और उन्हें अपने पैतृक जिले जलगांव में बिना बत्ती वाली कार में घूमते देखा गया. जिसके बाद कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें