scorecardresearch
 

अमरावती: '5 इंच गहरा जख्म-दिमाग की नस डैमेज', केमिस्ट उमेश की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

अमरावती के केमिस्ट उमेश की हत्या मामले की जांच एनआईए कर रही है. हत्याकांड में शामिल मुख्य आरोपी इरफान खान समेत कुल सात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उमेश के भाई ने हत्यारोपियों में शामिल यूनुस को लेकर कई खुलासे भी किए हैं.

X
उमेश कोल्हे और हत्या के आरोपियों में शामिल यूसुफ खान. -फाइल फोटो उमेश कोल्हे और हत्या के आरोपियों में शामिल यूसुफ खान. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्लैक फ्रीडम नाम के वॉट्सएप ग्रुप में शेयर किया था मैसेज
  • मेडिकल स्टोर से लौटते समय हुई थी उमेश की हत्या

अमरावती के केमिस्ट उमेश कोल्हे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट में बताया गया है कि चाकू के हमले की वजह से उमेश की दीमाग की नस डैमेज हो गई थी. इसके अलावा चाकूओं के वार से उसकी सांस लेने वाली नली, खाना खाने वाली नली और आखं के नसों को भी नुकसान पहुंचा था.

पुलिस के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ये भी जानकारी सामने आई है कि उमेश के गले पर जो जख्म मिला था, वह पांच इंच चौड़ा, सात इंच लंबा और पांच इंच गहरा था. बता दें कि 54 साल के केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की 21 जून को हत्या कर दी गई थी और इस सिलसिले में मास्टर माइंड समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. यह घटना राजस्थान के उदयपुर में एक टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने से एक हफ्ते पहले हुई थी.

ब्लैक फ्रीडम नाम के वॉट्सएप ग्रुप में शेयर किया था मैसेज

उमेश कोल्हे अमरावती शहर में एक मेडिकल स्टोर चलाते थे. उन्होंने कथित तौर पर नूपुर शर्मा के समर्थन में उनकी टिप्पणियों के लिए कुछ वाट्सएप ग्रुपों पर एक पोस्ट को शेयर किया था. उन्होंने गलती से पोस्ट को एक ऐसे ग्रुप में शेयर कर दिया था, जिसमें कुछ मुस्लिम भी सदस्य थे. पुलिस के मुताबिक, उमेश ने ब्लैक फ्रीडम नाम के ग्रुप में नूपुर शर्मा के समर्थन वाला वॉट्सएप मैसेज को शेयर किया था. 

ब्लैक फ्रीडम नाम के वॉट्सएप ग्रुप में उमेश का दोस्त यूनुस खान भी जुड़ा था. यूनुस खान ने उमेश की ओर से शेयर किए गए पोस्ट को रहबरिया ग्रुप में भेज दिया था जिसमें हत्याकांड का मुख्य आरोपी इरफान खान भी जुड़ा था. 

पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी इरफान खान ने उमेश की हत्या की साजिश रची और इसके लिए लोगों को शामिल किया था. इरफान खान ने अन्य पांच आरोपियों को 10-10 हजार रुपए देने और भागने के लिए एक कार देने का वादा किया था.

मेडिकल स्टोर से लौटते समय हुई थी उमेश की हत्या

हत्या की वारदात 21 जून को रात 10 से 10.30 बजे के बीच उस वक्त हुई थी, जब उमेश अपनी दुकान बंद करके बाइक से घर लौट रहे थे. इस दौरान उमेश का बेटा संकेत और पत्नी वैष्णवी दूसरी बाइक से उनके साथ जा रहे थे. 

पुलिस के मुताबिक, उमेश जैसे ही महिला कॉलेज के गेट के पास पहुंचे, तो बाइक सवार दो लोगों ने पीछे से आकर उमेश का रास्ता रोक दिया. एक युवक बाइक से उतरा और उमेश की गर्दन पर धारदार हथियार से वार किया और मौके से फरार हो गया. खून से लथपथ उमेश सड़क पर गिर गए. इसके बाद संकेत उसे अस्पताल ले गया जहां उनकी मौत हो गई थी. पुलिस उमेश कोल्हे हत्याकांड के मामले में शेख इरफान, मुदस्सिर अहमद (22), शाहरुख पठान (25), अब्दुल तौफिक (24), शोएब खान (22), अतिब रशीद (22) और युसूफ खान बहादुर खान (44) को गिरफ्तार कर चुकी है.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें