scorecardresearch
 

तोता 'बिट्टू' हुआ गुम तो मालिक ने पर्चे छपवाकर शहर में बांटे, बताने वाले को ईनाम रखा 15000 रुपये

उस तोते का नाम बिट्टू है. उसके मालिक ने इसके लिए गुमशुदगी के पर्चे छपवा कर शहर भर में बांटे दिए हैं. पशु-पक्षियों से इंसान के प्यार की आपने सैकड़ों कहानियां सुनी होगी लेकिन ये मामला उससे अलग है.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तोते के गुम होने पर परेशान हुआ मालिक, इनाम का कर दिया ऐलान
  • एमपी के जबलपुर की घटना, ढूंढने वाले को देंगे 15 हजार रु नकद

एमपी गजब है ये यूं ही नहीं कहा जाता. दरअसल जबलपुर में एक अनोखा मामला सामने आया है जहां एक शख्स ने पालतू तोते के गुम होने के बाद उसे ढूंढने वाले को 15 हज़ार रुपये नकद इनाम देने की घोषणा कर दी.

उस तोते का नाम बिट्टू है. उसके मालिक ने इसके लिए गुमशुदगी के पर्चे छपवा कर शहर भर में बांट दिए हैं. पशु-पक्षियों से इंसान के प्यार की आपने सैकड़ों कहानियां सुनी होंगी, लेकिन ये मामला उससे अलग है.

बिट्टू यानी की गुम हुआ तोता करन प्रजाति का है. रांझी मानेगांव में रहने वाले अमन सिंह चौहान ने करीब 2 साल पहले करन प्रजाति के इस तोते को पाला था. इस तोते को वह बच्चे की तरह संभाल कर रखते थे.

हाल ही में 2 नवंबर को तोता पिंजरे का दरवाजा खोलकर बाहर निकला और गायब हो गया. अमन ने घर के आसपास और अन्य क्षेत्र में अपने तोते को तलाश किया लेकिन जब उसका कोई पता नहीं चला तो वह परेशान हो गए. उन्होंने सबसे पहले अखबारों में अपने तोते की गुमशुदगी का इश्तिहार छपवाया. तोते के लिए छपवाया पर्चा

इसके बाद भी जब वो तोते को ढूंढने में असफल रह गए तो उन्होंने पर्चे छपवाए जिसमें तोते का नाम बिट्टू लिखवाया और उसे ढूंढकर लाने वाले को 15 हज़ार रुपये इनाम देने का ऐलान कर दिया. 

अमन अपने पालतू तोते बिट्टू के खो जाने के बाद से वह बहुत परेशान हैं और अभी भी उसकी तलाश में जुटे हुए हैं. गुमशुदगी के पर्चे को देखने के बाद से उनके पास कई फोन आये और वो फोन करने वालों से इस उम्मीद में मिले की उनका तोता बिट्टू मिल गया होगाना लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी. फिर भी अमन को भरोसा है कि उनका बिट्टू उन्हें जरूर वापस मिलेगा.

ये भी पढ़ें:


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×