scorecardresearch
 

चमकी बुखार से बिहार बेहाल, मध्य प्रदेश में भी अलर्ट जारी

बिहार में चमकी बुखार से अब तक 109 बच्चों की मौत हो चुकी है. इसे लेकर पड़ोसी राज्य झारखंड में अलर्ट जारी होने के बाद अब मध्य प्रदेश में भी स्वास्थ्य मंत्री ने  स्वास्थ्य विभाग सहित सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं.

चमकी बुखार को लेकर मध्य प्रदेश में अलर्ट चमकी बुखार को लेकर मध्य प्रदेश में अलर्ट

बिहार में चमकी बुखार से लगातार हो रही बच्चों की मौत से हाहाकार मचा है, लेकिन बिहार जैसी स्थिति मध्य प्रदेश में ना बने इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा चमकी बुखार को लेकर पड़ोसी राज्य झारखंड में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है.

गौरतलब है कि बिहार में चमकी बुखार से अब तक 109 बच्चों की मौत हो चुकी है, जिसके चलते सूबे की नीतीश सरकार के खिलाफ जनता में भी बेहद गुस्सा है. हालांकि, मध्य प्रदेश में इस बीमारी से जुड़ा कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने स्वास्थ्य विभाग सहित सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही इस बीमारी से संबंधित सभी व्यवस्थाएं पहले से ही करने को कहा गया है.

क्या है 'चमकी बुखार' के लक्षण

ये एक संक्रामक बीमारी है. इस बीमारी के वायरस शरीर में पहुंचते ही खून में शामिल होकर अपना प्रजनन शुरू कर देते हैं. शरीर में इस वायरस की संख्या बढ़ने पर ये खून के साथ मिलकर व्यक्ति के मस्तिष्क तक पहुंच जाते हैं. मस्तिष्क में पहुंचने पर ये वायरस कोशिकाओं में सूजन पैदा कर देते हैं, जिसकी वजह से शरीर का 'सेंट्रल नर्वस सिस्टम' खराब हो जाता है. चमकी बुखार में बच्चे को लगातार तेज बुखार चढ़ा रहता है. बदन में ऐंठन के साथ बच्चा अपने दांत पर दांत चढ़ाए रहता है. शरीर में कमजोरी की वजह से बच्चा बार-बार बेहोश होता रहता है. शरीर में कंपन के साथ बार-बार झटके लगते रहते हैं. यहां तक कि शरीर भी सुन्न हो जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें