scorecardresearch
 

चमकी बुखार से बिहार में हाहाकार, झारखंड में सभी अस्पताल भी अलर्ट पर

बीते एक हफ्ते में बिहार में चमकी बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़ गई है. अभी तक बिहार के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में 89 और केजरीवाल अस्पताल में 19 बच्चों की मौत हो गई है.

चमकी बुखार से मचा हाहाकार! चमकी बुखार से मचा हाहाकार!

बिहार में चमकी बुखार के कहर ने हाहाकार मचा दिया है. मंगलवार दोपहर तक इस बीमारी की वजह से मरने वालों की संख्या 108 के आसपास पहुंच गई. अब इसको लेकर पड़ोसी राज्य झारखंड में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. राज्य सरकार ने सभी मेडिकल कॉलेज, अस्पताल और संस्थानों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा है.

झारखंड सरकार की ओर से सभी संस्थानों के हेड से कहा गया है कि वह हर तरह की स्थिति के लिए तैयार रहें. दरअसल, सरकार को इस बात का भी डर है कि रोजाना बिहार से झारखंड लोग आते-जाते रहते हैं. ऐसे में कुछ केस भी बिहार से झारखंड ट्रांसफर हो सकते हैं तो उसके लिए हर तरह की तैयारी रखने को कहा गया है.

आपको बता दें कि बीते एक हफ्ते में बिहार में चमकी बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़ गई है. अभी तक बिहार के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में 89 और केजरीवाल अस्पताल में 19 बच्चों की मौत हो गई है. मंगलवार को ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर का दौरा किया. हालांकि, नीतीश कुमार का अस्पताल के बाहर काफी विरोध भी हुआ और नीतीश गो बैक के नारे लगे.

बवाल के साथ जारी है राजनीति

बिहार में अभी भी चमकी बुखार का कहर थमा नहीं है, क्योंकि इस केस से जुड़े 400 से अधिक बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं. एक तरफ बिहार में बुखार से हाहाकार मचा है तो राजनीति भी तेज होती जा रही है. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी ट्वीट कर नीतीश सरकार पर हमला किया.

राबड़ी की तरफ से ट्वीट कर कहा गया कि हर साल हज़ारों बच्चे मारे जाते हैं, लेकिन फिर भी सरकार की कोई तैयारी नहीं होती. दवा और इलाज के अभाव में गरीब बाल-बच्चे मर रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री पिकनिक मना रहे हैं, सरकार की संवेदना मर चुकी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें