scorecardresearch
 

कमलनाथ का विवादित बयान, कहा-सजावट के आधार पर नहीं चुने महिला उम्मीदवार

मध्य प्रदेश के 230 विधानसभा क्षेत्रों के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. बीजेपी ने 27 और कांग्रेस ने 25 महिलाओं को उम्मीदवार बनाया है. कमलनाथ के बयान पर बीजेपी ने कांग्रेस को घेरना शुरू कर दिया है.

फाइल फोटो (पीटीआई) फाइल फोटो (पीटीआई)

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ इन दिनों अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में हैं. आरएसएस पर दिए बयान का विवाद अभी ठंडा भी नहीं पड़ा कि कमलनाथ के एक और बयान ने विवाद खड़ा कर दिया है.

भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए कमलनाथ ने कहा, 'महिलाओं को कोटा और सजावट के आधार पर टिकट नही दिया जाता'. दरअसल, मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कमलनाथ पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे. उसी दौरान उनसे एक पत्रकार ने टिकट वितरण में महिलाओं की कम भागीदारी पर सवाल पूछा तो कमलनाथ ने जवाब दिया, 'देखिए जो जीतने वाली महिलाएं थीं उनको हमने टिकट दिया है, केवल कोटा और सजावट के लिए हम उस रास्ते मे नहीं गए'.

आपको बता दें कि कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए करीब 27 महिलाओं को टिकट दिया है. यानी कुल उम्मीदवार का लगभग लगभग 10 फीसदी और इसी को लेकर पत्रकारों ने कमलनाथ से सवाल किया था.

शिवराज ने साधा कमलनाथ पर निशाना

कमलनाथ के बयान पर शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कमलनाथ के बयान से उन्हें हैरानी भी हो रही है और दुख भी. राजगढ़ ज़िले में बुधवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा कि 'आज मैंने देखा कमलनाथ जी को कहते हुए. मुझे आश्चर्य भी हुआ और दुख भी. वो बोल रहे हैं टिकट के बारे में कि मैं सजावट के लिए महिलाओं को टिकट नहीं देता हूं. कमलनाथ, ये माताएं-बहने, ये हमारी बेटियां, ये भारत की संस्कृति में सजावट नहीं हैं. ये गांगा-गीता-गायत्री हैं, सीता-सत्या-सावित्री हैं, दुर्गा-लक्ष्मी-सरस्वती हैं.'

ट्विटर पर भी कांग्रेस को घेरा

सार्वजनिक मंच पर कमलनाथ के बयान पर जवाब देने के साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर भी कांग्रेस को घेरा और लिखा, 'मध्य प्रदेश की धरती माताओं-बेटियों और बहनों का सम्मान करने वालों की धरती है. बेटियों के पांव धो कर उस पानी को मैं माथे से लगाता हूं लेकिन बहनों को सजावट की चीज़ कह कर कांग्रेस उनका अपमान करती है. महिलाओं कि इज्जत ना करे तो ऐसी कांग्रेस को क्यों लाना?'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें