scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश चुनाव: 177 उम्मीदवारों की लिस्ट में सिर्फ 16 महिलाओं को टिकट

उम्मीदवारों के नाम बीजेपी की इलेक्शन कमेटी की बैठक में तय हुए. इस बैठक में बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज समेत अन्य सदस्य शामिल हुए.

मध्य प्रदेश में बीजेपी का चुनाव प्रचार (फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव) मध्य प्रदेश में बीजेपी का चुनाव प्रचार (फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की शुक्रवार को जारी 177 उम्मीदवारों की सूची में सिर्फ 16 महिला उम्मीदवारों को टिकट दिया गया है. 177 उम्मीदवारों की सूची में कुछ ऐसी महिला विधायक हैं जिनके टिकट काट कर पुरुषों को दिए गए हैं. शुक्रवार को जारी सूची में लगभग 8 महिला विधायकों के टिकट काटे गए हैं.

जिन 8 महिला विधायकों के टिकट काट कर पुरुषों को दिए गए हैं उनमें सबसे बड़ा नाम है ग्वालियर पूर्व की विधायक और नगरीय प्रशासन मंत्री रहीं माया सिंह का. इनकी जगह सतीश सिकरवार को टिकट दिया गया है. इसके अलावा जिन महिला विधायकों के टिकट कटे हैं, उनके नाम हैं- पारुल साहू, अनिता नायक, उमा खटिक, संगीता चारेल, योगिता नवल सिंह, नीलम मिश्रा और प्रमिला सिंह.

बीजेपी की ओर से जारी सूची में जिन 16 महिलाओं को टिकट मिला है उनमें यशोधरा राजे सिंधिया, ललिता यादव, अर्चना चिटनीस, रंजना बघेल, सरला रावत, ममता मीना, अर्चना सिंह, मनीषा सिंह, मीना सिंह, प्रतिभा सिंह, नंदिनी मारावी, अनुपमा नेताम, गीताबाई उईके, गायत्री राजे, मंजू राजेंद्र दादू और नीना वर्मा के नाम शामिल हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी परंपरागत सीट बुधनी से ही चुनाव लड़ेंगे. बीजेपी की पहली लिस्ट में 177 उम्मीदवारों की घोषणा की गई, जिसमें 2 मौजूदा मंत्री और 27 विधायकों के टिकट काट दिए हैं. पहली लिस्ट में बीजेपी ने मंत्री माया सिंह समेत 27 मौजूदा विधायक के टिकट काटे हैं. गौरीशंकर शेजवार को भी बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है. माया सिंह ग्वालियर से विधायक हैं. गौरीशंकर शेजवार के बेटे मुदित शेजवार को सांची से टिकट दिया है. विदिशा में मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा का टिकट काट दिया है.

94 मौजूदा विधायकों को टिकट

मध्य प्रदेश की पहली सूची के मुताबिक 94 विधायकों को टिकट मिला है जबकि 3 विधायकों को सीट बदलकर टिकट दिया गया है. वहीं 2 सांसदों भी उम्मीदवार बने हैं. इसके अलावा 48 उम्मीदवारों को पहली बार मौका मिला है.  पिछली बार हारे 14  उम्मीदवारों को मौका एक बार फिर से मिला है.

जिन मंत्रियों को मिला टिकट

भूपेंद्र सिंह (खुरई), नरोत्तम मिश्रा (दतिया), यशोधरा राजे सिंधिया (शिवपुरी), गोपाल भार्गव (लहरी), राजेंद्र शुक्ल (रीवा), संजय पाठक (विजयराघगढ़), विश्वास सारंग (नरेला), उमाशंकर गुप्ता (भोपाल  दक्षिण पश्चिम), गौरीशंकर बिसेन (बालाघाट), पारस जैन (उज्जैन उत्तर), सुरेंद्र पटवा (भोजपुर), रामलाल (सिलवानी), दीपक जोशी (हाटपिपल्या).

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया 2 नवंबर से शुरू हो रही है, जो 9 नवंबर तक चलेगी. मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को एक ही चरण में चुनाव होंगे. मध्यप्रदेश में कुल 230 विधानसभा सीटें हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें