scorecardresearch
 

फिलहाल यहां रहेगी गीता, स्वागत की तैयारियां जोरों पर

पाकिस्तान से भारत लौटी गीता को इंदौर के डेफ बाइलिंगुअल एकेडमी में रखा जाएगा. करीब 14 साल तक पाकिस्तान में रहने वाली गीता को वतन तो मिला लेकिन मां-बाप से उसकी मुलाकात कई 'परीक्षाओं' से गुजरने के बाद ही हो सकेगी. परिवार मिलने तक उसे इसी संस्था में रखा जाएगा.

X

पाकिस्तान से भारत लौटी गीता को इंदौर के डेफ बाइलिंगुअल एकेडमी में रखा जाएगा. करीब 14 साल तक पाकिस्तान में रहने वाली गीता को वतन तो मिला लेकिन मां-बाप से उसकी मुलाकात कई 'परीक्षाओं' से गुजरने के बाद ही हो सकेगी. परिवार मिलने तक उसे इसी संस्था में रखा जाएगा.

एकेडमी के टीचर गौरव वर्मा ने बताया कि संस्था के हॉस्टल में करीब 300 मूक-बधिर बच्चे रहते हैं, जिन्हें गीता के यहां आने का बेसब्री से इंतजार है. गीता के यहां आने का ऐलान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को गीता के भारत आते ही कर दिया था.

गलती से पाकिस्तान जा पहुंची गीता अब तक कराची के एनजीओ ईदी फाउंडेशन के पास थी. वहां गुमनामी की जिंदगी जी रही गीता को भारत सरकार की कोशिशों के बाद सोमवार को ही भारत लाया गया है. अब सरकार उसके असली परिवार की तलाश में जुटी है और तब तक गीता इंदौर में इसी हॉस्टल में रहेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें