scorecardresearch
 

शिवसेना सांसद की धमकी, दिल्ली में भी नहीं होने देंगे गुलाम अली का कंसर्ट

पाकिस्तान से जुड़े लोगों के विरोध के मामले को आगे बढ़ाते हुए शिवसेना ने फिर से गुलाम अली के कार्यक्रम को नहीं होने देने की धमकी दी है. शिव सेना के महाराष्ट्र से सांसद कृपाल बालाजी तुमने ने ऐलान किया कि उनके कार्यकर्ता दिल्ली में पाकिस्तानी गजल गायक ग़ुलाम अली का दिसंबर में होने वाला कंसर्ट नहीं करने देंगे.

X
गुलाम अली के कार्यक्रम का विरोध कर रही है शिवसेना गुलाम अली के कार्यक्रम का विरोध कर रही है शिवसेना

पाकिस्तान से जुड़े लोगों के विरोध के मामले को आगे बढ़ाते हुए शिवसेना ने फिर से गुलाम अली के कार्यक्रम को नहीं होने देने की धमकी दी है. इस बार धमकी एक शिवसेना सांसद की ओर से आई है.

शिव सेना के महाराष्ट्र से सांसद कृपाल बालाजी तुमने ने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कड़े हाथों लेते हुई कहा है कि पाकिस्तानी गायक ग़ुलाम अली के प्रोग्राम को कैंसल करने और सुधींद्र कुलकर्णी को सबक सिखाने पर अगर बीजेपी और उनके नेता अफसोस प्रकट कर रहे हैं तो उनका चुनावों से पहले का एजेंडा कहा गया.

बालाजी ने ऐलान किया कि उनके कार्यकर्ता दिल्ली में पाकिस्तानी गजल गायक ग़ुलाम अली का दिसंबर में होने वाला कंसर्ट नहीं करने देंगे . माता वैष्णोदेवी देवी मंदिर के लिए शिव सैनिकों के जत्थे को नवरात्रा में रवाना करने के बाद जम्मू में शिवसेना सांसद ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी या बीजेपी को पाकिस्तानी गायक ग़ुलाम अली का फंक्शन कैंसल किया जाना या सुधींद्र कुलकर्णी पर शिवसैनिकों द्वारा कालिख लगाने पर उनको अफसोस है तो शिवसेना को गर्व है.

शिव सेना सांसद ने कहा कि जब नरेंद्र मोदी आरएसएस कार्यकर्ता थे तो वह कहा कहते थे, लेकिन आज प्रधानमंत्री बन गए तो कुछ और कह रहे हैं. बालाजी ने सवाल उठाया- कहां गया उनका राम मंदिर, कहां गया उनका आर्टिकल 370 और कॉमन सिविल कोड.

शिव सेना सांसद ने कहा कि जबतक पाकिस्तानी आतंकवाद बढ़ाता रहेगा और हमारे जवानों पर गोलिया चलाता रहेगा तब तक शिव सेना पाकिस्तानी लोगों के साथ इस तरह का बर्ताव करता रहेगा. उन्होंने साफ कर दिया कि दिल्ली में दिसंबर में पाकिस्तानी सिंगर ग़ुलाम अली के कंसर्ट को रोकने के लिए शिव सेना के कार्यकर्ता काम करेंगे.

गौरतलब है कि मुंबई और पुणे में गुलाम अली का कार्यक्रम शिवसेना के विरोध के बाद रद्द करना पड़ा था . उसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुलाम अली को दिल्ली में कार्यक्रम करने के लिए आमंत्रित किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें