scorecardresearch
 

शिव सेना का नरेंद्र मोदी पर तंज, कहा- पाकिस्तान को दिखाएं 56 इंच का सीना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के '56 इंच के सीने' वाले बयान पर तंज करते हुए शिव सेना ने कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा और पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए सीना नापने की जरूरत नहीं है. शिव सेना ने कहा कि मोदी पहले सीमा पर पाकिस्तान की ओर से होने वाली गोलीबारी को रोकें, इसके बाद चुनाव प्रचार करें.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के '56 इंच के सीने' वाले बयान पर तंज करते हुए शिव सेना ने कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा और पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए सीना नापने की जरूरत नहीं है. शिव सेना ने कहा कि मोदी पहले सीमा पर पाकिस्तान की ओर से होने वाली गोलीबारी को रोकें, इसके बाद चुनाव प्रचार करें.

शिव सेना ने महाराष्ट्र बीजेपी पर राष्ट्र की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का भी आरोप लगाया और कहा कि ऐसे समय में जबकि पाकिस्तान के साथ मुद्दे सुलझाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रहने की जरूरत है, वह उन्हें महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के लिए रोके हुए है.

शिव सेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में लिखा है, ‘मोदी फिलहाल महाराष्ट्र में चुनाव अभियान में व्यस्त हैं और वह वोट मांगने के लिए विभिन्न गांवों का दौरा कर रहे हैं. लेकिन महाराष्ट्र की राजनीति बाद में भी हो सकती है. पहले देश की सुरक्षा महत्वपूर्ण है. मोदीजी, पहले पाकिस्तान की धृष्टता रोकिये.’

सामना ने लिखा, ‘सीमा पर गश्त लगाते लगाते ही हमारे जवान इन दिनों शहीद हो रहे हैं. निरपराध नागरिकों के खून का रक्ताभिषेक सरहद पर हर दिन जारी है. इस बार भी कुछ ऐसा हुआ. पिछले 25 सालों में पाकिस्तानी फौज द्वारा की गई यह सबसे बड़ी गोलीबारी थी. इस घटना के बाद सीमा से सटे गांव में बसे लोगों के बीच न केवल हदशत फैल गई है बल्कि लोगों का पलायन भी शुरू हो गया है. रात को पाकिस्तान की ओर से अचानक गोली कहां से आएगी, इसका कुछ भरोसा नहीं है.’

इसके बाद मोदी को नसीहत देते हुए लिखा गया, ‘पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए 56 इंच छाती की जरूरत है क्या? यह विवाद का मुद्दा है, लेकिन लड़ने की इच्छा होगी तो किसी भी छाती को नापने की जरूरत नहीं. महाराष्ट्र की राजनीति बाद में भी की जा सकती है. लेकिन मोदी जी, अब पाकिस्तान की खुराफातों को बर्दाश्त मत कीजिए. हम सिर्फ अपनी ही लाशें गिनते बैठें क्या? उन्होंने हमारे पांच मारे, उनके 50 मारकर उनकी गर्दन शिवराय के महाराष्ट्र में लेकर आओ. महाराष्ट्र मर्दों तथा शूरों का हमेशा सम्मान करता है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें