scorecardresearch
 

गुजरात: सरदार सम्मान यात्रा से पहले हिरासत में लिए गए पाटीदार नेता, नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलने की मांग

सरदार संकल्प यात्रा सूरत के बारडोली से आज शुरू हो रही थी, जो कल अहमदाबाद के मोढेरा नरेंद्र मोदी स्टेडियम पहुंचने वाली थी. इस यात्रा का मकसद नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार पटेल रखना था.

X
पाटीदार नेताओं को हिरासत में लिया गया
पाटीदार नेताओं को हिरासत में लिया गया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलने की मांग
  • सूरत से अहमदाबाद पहुंचने वाली थी यात्रा

गुजरात के नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार पटेल के नाम पर करने के लिए पाटीदार आज सरदार सम्मान संकल्प यात्रा निकालने वाले थे. लेकिन उससे पहले ही पाटीदार नेताओं को बारडोली से हिरासत में ले लिया गया. विधानसभा चुनाव से पहले ये गुजरात सरकार के लिए बड़ी चुनौती है. 

सरदार संकल्प यात्रा सूरत के बारडोली से आज शुरू हो रही थी, जो कल अहमदाबाद के मोढेरा नरेंद्र मोदी स्टेडियम पहुंचने वाली थी. इस यात्रा का मकसद नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार पटेल रखना था. इस यात्रा को पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति ने भी समर्थन दिया था. आज यात्रा को शुरू करने से पहले पाटीदार नेता अल्पेश कथेरिया और कांग्रेस के नेता आनंद चौधरी समेत 50 पाटीदार नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. इसमें पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता भी शामिल हैं. 

पाटीदार नेता ने बताया तानाशाही

आजतक से बात करते हुए पाटीदार नेता धर्मिक मालवीय ने कहा, "यह लोकतंत्र नहीं तानाशाही है. रैली शुरू होने से पहले ही हम सभी को हिरासत में लिया गया था. सभी को अलग-अलग पुलिस थानों में ले जाया गया. पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के संयोजक अल्पेश कथिरिया को भी हिरासत में लिया गया." धर्मिक ने आगे कहा, "हम यहीं रुकने वाले नहीं हैं. हमारा आंदोलन अभी और तेज होने वाला है. अगर गुजरात सरकार ने नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम वापस सरदार पटेल स्टेडियम में नहीं बदला तो हमारा विरोध पूरे गुजरात में तेज हो जाएगा." 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें