scorecardresearch
 

सत्येंद्र जैन के खिलाफ दाखिल हो चुकी है चार्जशीट, इसलिए मिले जमानत, कोर्ट में बोले वकील कपिल सिब्बल

राउज एवेन्यू कोर्ट में सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा है कि वह बीते 3 महीने से जेल में बंद हैं और उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है और गवाही भी पूरी हो चुकी है. अब उन्हें जेल में रखने का कोई औचित्य नहीं है, इसलिए उन्हें जमानत दी जाए. 

X
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (फाइल फोटो)
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (फाइल फोटो)

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर सुनवाई हुई. इस दौरान जैन के वकील कपिल सिब्बल ने जमानत के पक्ष में दलील देते हुए कहा कि अब उनको जेल में रखने की कोई वजह नहीं है. सिब्बल ने कहा कि सत्येंद्र जैन के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की जा चुकी है और गवाही भी पूरी हो चुकी है. 

राउज एवेन्यू कोर्ट में सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा है कि वह बीते 3 महीने से जेल में बंद हैं और उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है. अब उन्हें जेल में रखने का कोई औचित्य नहीं है, इसलिए उन्हें जमानत दी जाए.

पहले खारिज हो चुकी है जमानत याचिका

इससे पहले सत्येंद्र जैन की तबीयत खराब होने के बाद उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनका ऑक्सीजन लेवल गिरने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था और उन्हें अस्पताल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया गया था. इसके साथ ही कोर्ट ने एक बार यह कहते हुए जमानत देने से इनकार कर दिया था कि वह प्रभावशाली व्यक्ति हैं, सबूतों के साथ छेड़छाड़ की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है.

अंकुश, वैभव की जमानत पर भी सुनवाई

सत्येंद्र जैन की जमानत के साथ-साथ कोर्ट में अंकुश जैन और वैभव जैन की जमानत को लेकर भी सुनवाई हुई. उनके वकील सुशील कुमार ने ED की चार्जशीट को नकारते हुए कहा है कि उन्हें गलत ढंग से फंसाया जा रहा है. उनके खिलाफ मामला नहीं बनता है. फिलहाल अगली तारीख पर अंकुश और वैभव जैन की जमानत की मांग पर सुनवाई होगी. मामले में अगली सुनवाई 30 अगस्त को जारी रहेगी.

30 मई को गिरफ्तार हुए जैन 

सत्येंद्र जैन को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में 30 मई को गिरफ्तार किया था. 57 साल के सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बाद ईडी ने उनसे जुड़े लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की थी. ईडी की ओर से छापेमारी के दौरान करीब 2.85 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति और सोने के 133 सिक्के बरामद किए जाने का दावा किया था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें