scorecardresearch
 

दिल्ली में फिर रफ्तार पकड़ रहा कोरोना, 24 घंटे में आए 5891 केस, 47 मरीजों की मौत

दिल्ली सरकार की तरफ से साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक सूबे में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 5891 नए मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं AIIMS के निदेशक ने कहा कि यह कोरोना की तीसरी लहर नहीं है , दूसरी लहर में ही तेजी आई है.

दिल्ली में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं.(File) दिल्ली में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं.(File)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पिछले 24 घंटे में कोरोना के 5891 नए मामले
  • 9.88 फीसदी हुई संक्रमण दर
  • मरने वालों का आंकड़ा हुआ 6470

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस महामारी फिर से रफ्तार पकड़ रही है. दिल्ली सरकार की तरफ से साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक सूबे में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 5891 नए मामले दर्ज किए गए हैं. इसके अलावा 47 और मरीजों ने कोरोना के चलते दम तोड़ा है. देश की राजधानी में अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 6470 हो गई है.

वहीं, पिछले 24 घंटे में 4433 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं. जिसके बाद ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर  3,42,811 हो गई है. दिल्ली में अबतक कुल कोरोना के 3,81,644 मामले सामने आ चुके हैं.दिल्ली में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले दस दिन में संक्रमण दर  9.88 फीसदी हो गई है. 

देखें- आजतक LIVE TV

राजधानी दिल्ली में मौजूदा समय में 3158 कंटेंमेंट जोन हैं. वहीं, सूबे में मृत्यु दर 0.87 प्रतिशत रही है. यहां अबतक कुल 4636365 कोरोना टेस्ट हुए हैं. शुक्रवार को 42583 एंटीजेन टेस्ट किए गए और 17058 आरटीपीसीआर संबंधी जांच की गई.

उधर,  अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने आजतक से बातचीत के दौरान कहा कि त्योहारों के मौसम को देखते हुए लोगों को अधिक एहतियात बरतने की जरूरत है. उन्होंने लोगों से घर में ही त्योहार मनाने की अपील की.

उन्होंने कहा कि बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें.  संभव हो तो धूप निकलने के बाद ही घर से बाहर निकलें और हमेशा मास्क का इस्तेमाल करें. उन्होंने साबुन और सैनिटाइजर के इस्तेमाल की भी सलाह दी.  कोरोना की तीसरी लहर की बात खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि यह दूसरी लहर ही है जिसमें तेजी आई है.

गुलेरिया ने कहा कि त्योहारों के मौसम में लोगों से मिलने से बचें, कोशिश करें कि लोगों से फोन और वर्चुअल तरीके से जुड़ें. उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीने अहम हैं. इस साल जो कमियां हैं उन्हें अगले साल पूरा किया जा सकता है. कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतने की जरूरत है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें