scorecardresearch
 

लौट के बग्गा दिल्ली आए... तीन राज्य-तीन पुलिस और 7 घंटे की पकड़म-पकड़ाई!

Punjab Police ने हरियाणा के DGP को चिट्ठी भेजी है. इस चिट्ठी के साथ तेजिंदर पाल बग्गा के खिलाफ दर्ज FIR की कॉपी भी भेजी गई है. पंजाब पुलिस ने अपने पत्र में कहा है कि यह अपहरण का केस नहीं है. हरियाणा की पुलिस ने पंजाब टीम को बिना वजह रोका है. 

X
तेजिंदर पाल बग्गा को पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार किया था तेजिंदर पाल बग्गा को पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार किया था
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तेजिंदर बग्गा पर बवाल
  • पंजाब पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • हरियाणा पुलिस ने रोका
  • दिल्ली पुलिस साथ लाई

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी का मसला आज तीन राज्यों की पुलिस के लिए आफत बन गया. दिल्ली के जनकपुरी से सुबह करीब 8.15 बजे  शुरू हुए पकड़म-पकड़ाई के खेल के 7 घंटे बाद बग्गा अब दिल्ली आ रहे हैं. बता दें कि आज सुबह पंजाब पुलिस ने बग्गा को गिरफ्तार किया था और उनको लेकर मोहाली के लिए निकली थी. लेकिन दिल्ली पुलिस के कहने पर हरियाणा के कुरुक्षेत्र में पंजाब पुलिस के काफिले को रोक लिया गया. इस घटनाक्रम में तब बड़ा ट्विस्ट आया जब हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने ऐलान किया कि वो बग्गा को पंजाब नहीं दिल्ली पुलिस को सौंपेंगे. ऐसा हुआ भी और हरियाणा पुलिस ने बग्गा को दिल्ली पुलिस को सौंप दिया.

हाईकोर्ट जा सकती है पंजाब पुलिस

वहीं इस पूरे मामले में अब पंजाब पुलिस पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट जा सकती है. सूत्रों के अनुसार पंजाब पुलिस का कहना है कि हरियाणा पुलिस ने गैरकानूनी ढंग से उनके काम में अड़चन डाली है.

दिल्ली पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज किया

वहीं, बग्गा के पिता ने दिल्ली पुलिस में शिकायत की है कि कुछ लोगों ने उनके घर में घुसकर मारपीट की और बग्गा को अपने साथ ले गए. दिल्ली पुलिस ने इसी शिकायत के आधार पर पंजाब पुलिस के जवानों पर अपहरण का मामला दर्ज किया.

बीजेपी ने लगाए केजरीवाल पर आरोप

दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने इस पूरे मामले में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा.  आदेश गुप्ता ने कहा, तेजिंदर बग्गा पर जो कार्रवाई हुई है वो बहुत शर्मनाक है. केजरीवाल ने पंजाब पुलिस के जरिए एक बुजुर्ग व्यक्ति को पिटवाया है, उनके मुंह में कपड़ा ठूंसा गया है, अभद्रता की गई है. पंजाब पुलिस इस कदर गुंडागर्दी पर उतारू है कि उन्होंने एक सिख को अपनी पगड़ी तक भी नहीं बांधने दी. 

कुरुक्षेत्र में क्यों रोकी गई पंजाब पुलिस

दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद हरियाणा पुलिस से बग्गा को ले जा रही टीम को रोकने की सिफारिश की थी. इसके बाद हरियाणा की क्राइम ब्रांच की टीम ने बग्गा को ले जा रही रही पंजाब पुलिस को कुरुक्षेत्र में रोक लिया गया. पंजाब पुलिस से पूछताछ भी की गई. उधर, बग्गा को वापस राजधानी लाने के लिए दिल्ली पुलिस भी कुरुक्षेत्र पहुंच गई. इन सबके बीच हरियाणा के गृहमंत्री के बयान से साफ हो गया है कि बग्गा को दिल्ली पुलिस को सौंपा जाएगा और हुआ भी यही.

उधर, पंजाब पुलिस ने हरियाणा के DGP को चिट्ठी भेजी है. इस चिट्ठी के साथ बग्गा के खिलाफ दर्ज FIR की कॉपी भी भेजी गई है. पंजाब पुलिस ने अपने पत्र में कहा है कि यह अपहरण का केस नहीं है. हरियाणा की पुलिस ने पंजाब टीम को बिना वजह रोका है. 

क्यों हुई थी बग्गा की गिरफ्तारी?

गौरतलब है कि बग्गा के खिलाफ अपराधिक मामला आम आदमी पार्टी के नेता डॉक्टर सनी सिंह की शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया था. मामला दर्ज होने के बाद पंजाब पुलिस तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की तलाश में थी. पंजाब पुलिस बग्गा की तलाश में पहले भी दिल्ली आई थी, लेकिन तब जवानों को बैरंग लौटना पड़ा था. तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने 'द कश्मीर फाइल्स ' फिल्म पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की टिप्पणी के बाद उन पर निशाना साधा था. बग्गा ने सीएम केजरीवाल को कश्मीरी पंडित विरोधी बताया था. इसके बाद बग्गा के खिलाफ पंजाब में FIR दर्ज कर ली गई थी.

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें