scorecardresearch
 

दंतेवाड़ा नक्सली हमला: शहीद पुलिसकर्मी की बहादुरी याद कर रो पड़े एसपी

एसपी अभिषेक पल्लव ने कहा कि दिल्ली के मीडियाकर्मी 150 मीटर तक रेंगकर भागे नक्सलियों ने उन्हें गोली मारने की कोशिश की तो मेरे जवान ने कूद कर उनको धक्का दिया, जिसमें वो शहीद हो गया.

दंतेवाड़ा में घटनास्थल पर तैनात सुरक्षाबल (फोटो-एएनआई) दंतेवाड़ा में घटनास्थल पर तैनात सुरक्षाबल (फोटो-एएनआई)

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले में तीन लोग शहीद हुए हैं. इनमें एक एएसआई और एक सहायक आरक्षक और एक मीडियाकर्मी भी शामिल हैं. दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव इस घटना की जानकारी देते हुए भावुक हो गए. 

एसपी अभिषेक पल्लव ने कहा कि उनके जवान ने बहादुरी से नक्सलियों का सामना किया, अगर ऐसा ना होता तो दो और मीडियाकर्मियों को नुकसान पहुंच सकता था. अपने जवान के कारनामे को बताते हुए एसपी रो पड़े. उन्होंने कहा कि नक्सली नहीं चाहते हैं कि इस इलाके में विकास हो.

एसपी ने कहा, "डीडी के दो रिपोर्टर जो दिल्ली से आए थे...वे 150 मीटर तक रेंगकर भागे, नक्सलियों ने उन्हें गोली मारने की कोशिश की तो मेरे जवान ने कूद कर उनको धक्का दिया, जिसमें वो शहीद हो गया...मैं अपने तीस लड़कों को शाबासी देता हूं कि उन्होंने 300 नक्सलियों को पीछे भागने पर मजबूर किया...नहीं तो दूसरे हमले में तीस के तीस शहीद हो सकते थे."

अभिषेक पल्लव ने कहा कि घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाना संभव नहीं था. एसपी अभिषेक पल्लव ने रोते हुए कहा, "हमने एंबुलेंस का इंतजार किया...तब उनको अस्पताल भेज सके...हमने चारों ओर से एरिया को घेर लिया,  उन्होंने जो हथियार लूटा उसे हमने वापस ले लिया...दो नक्सलियों को भी गोली लगी है.

एसपी ने कहा कि यहां पर दिल्ली से मीडिया टीमें आई थीं. वे यहां पर विकास के काम को देख रहे थे. एसपी ने कहा कि मीडिया की बाहरी टीमें आने से नक्सली गुस्से में थे, वे लोगों पर सड़क काटने का दबाव बना रहे थे. एसपी के मुताबिक गांव वाले नक्सलियों के दबाव में नहीं झुके. इसके बाद दो तीन गांव के नक्सलियों ने साथ मिलकर हमले का प्लान बनाया.

बता दें कि दंतेवाड़ा के अरनपुर थाना इलाके में नक्सलियों के इस हमले में दूरदर्शन के कैमरामैन अचितानंद साहू की गोली लगने से मौत हो गई, वहीं एक दूसरे पत्रकार के भी घायल होने की सूचना है. छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की कवरेज के लिए दंतेवाड़ा आए ये पत्रकार नीलावाया गांव में फायरिंग की चपेट में आ गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें