scorecardresearch
 

गया में CAA पर बोल रहे थे सीएम योगी, आसमान में दिखे काले गुब्बारे

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बिहार के गया में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो-PTI) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो-PTI)

  • नागिरकता कानून के समर्थन में योगी आदित्यनाथ की गया में रैली
  • रैली से थोड़ी ही दूर लोगों ने हवा में छोड़े काले गुब्बारे, किया विरोध

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बिहार के गया में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया. हालांकि इस दौरान उन्हें लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ा. जिस समय योगी आदित्यनाथ भाषण दे रहे थे उस दौरान काले गुब्बारे हवा में उड़ते देखे गए.

नागरिकता कानून के खिलाफ विपक्ष हमलावर है. देशभर में नागरिकता कानून को लेकर अल्पसंख्यकों में डर का माहौल है. इसी लिए नारिकता संशोधन एक्ट के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी देशभर में रैली कर रही है. मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार के गया में रैली की और विपक्ष पर निशाना साधा.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्ष सौ बार झूठ बोलकर देश में माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा है. इसी के साथ ही योगी बोले कि इस कानून से किसी को डरने की जरूरत नहीं है. रैली में यूपी सीएम बोले कि नागरिकता कानून किसी से नागरिकता छीनने नहीं बल्कि देने का कानून है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इससे किसी को भयभीत होने की जरूरत नहीं है, ना ही ये किसी मजहब या भाषा का ये कानून विरोधी है. विपक्षी नेता इसपर झूठ बोलकर देश के माहौल का बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

black-baloon_011420045339.jpgहवा में उड़ाए गए काले गुब्बारे

यूपी में नागरिकता देने के लिए सक्रिय हुई सरकार

इससे पहले योगी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने उत्तर प्रदेश में शरणार्थियों की संख्या को लेकर बयान दिया है. उन्होंने सोमवार को कहा कि राज्य के 21 जिलों में 32 हजार से ज्यादा शरणार्थियों की पहचान हो गई है. साथ ही श्रीकांत शर्मा ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है और सभी जिलाधिकारियों को शरणार्थियों पर डेटा जुटाने के लिए कहा गया है.

24 जिलों में रह रहे शरणार्थी चिन्हित

24 से ज्यादा जिलों में शरणार्थियों को चिन्हित किया गया है. इन जिलों में ज्यादातर शरणार्थी वर्षों से रह रहे हैं. ऐसे में सरकार के पास अभी नया आंकड़ा नहीं है. शरणार्थियों में ज्यादातर लोग हिंदू और सिख हैं , जो लंबे समय से नागरिकता मिलने का इंतजार कर रहे हैं. यह भी आंकड़ा सामने आया है कि शरणार्थियों में ज्यादातर पाकिस्तान और बांग्लादेश के रहने वाले हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें