scorecardresearch
 

लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ट्विटर पर एक्टिव, विरोधियों पर साध रही हैं निशाना, राजनीति में होगी एंट्री?

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती के बाद उनकी एक और पुत्री रोहिणी आचार्य बिहार की राजनीति में काफी सक्रियता दिखा रही हैं. रोहिणी आचार्य इन दिनों सोशल मीडिया पर ना सिर्फ अपने पिता और परिवार के लिए अपनी भावनाएं जाहिर कर रही हैं, बल्कि अपने पिता और भाई के सियासी विरोधियों पर भी लगातार निशाना साध रही हैं.

X
राबड़ी देवी, लालू यादव, रोहिणी आचार्य
राबड़ी देवी, लालू यादव, रोहिणी आचार्य
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ट्वीटर पर सक्रिया
  • रोहिणी लगातार सुशील मोदी पर निशाना साध रहीं
  • रोहिणी की शादी बिहार के औरंगाबाद में हुई है

बिहार की सियासत के बेताज बादशाह कहे जाने वाले आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की राजनीतिक विरासत उनके बड़े बेटे तेजस्‍वी यादव संभाल रहे हैं. वहीं, लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती के बाद उनकी एक और पुत्री रोहिणी आचार्य बिहार की राजनीति में काफी सक्रियता दिखा रही हैं. रोहिणी आचार्य इन दिनों सोशल मीडिया पर ना सिर्फ अपने पिता और परिवार के लिए अपनी भावनाएं जाहिर कर रही हैं, बल्कि अपने पिता और भाई के सियासी विरोधियों पर भी लगातार निशाना साध रही हैं. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या रोहणी आचार्य भी राजनीतिक किस्मत आजमाने की तैयारी में है? 

बता दें कि लालू प्रसाद यादव की 7 बेटियां और 2 बेटे हैं. लालू यादव की सियासी विरासत के उनकी पत्नी राबड़ी देवी ने आगे बढ़ाया, जिसके बाद बेटी मीसा और दोनों बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी यादव राजनीति में सक्रिय हैं. रोहिणी आचार्य पूर्व सीएम लालू यादव की उन बेटियों में से एक है, जो राजनीति में सक्रिय नहीं हैं, लेकिन वो सोशल मीडिया के जरिए परिवार से जुड़े लगभग हर मामले पर अपनी राय सार्वजनिक करती रहीं हैं. वहीं,  रोहणी अब अपने पिता व भाई के सियासी विरोधियों पर भी निशाना साधना शुरू कर दिया है.

 

रोहणी आचार्य ने अपने बड़े भाई तेजप्रताप के तलाक से जुड़ा मामला हो या फिर पिता से जुड़ा मामला पहले हर मुद्दे पर ट्वीट कर रही हैं. पिता लालू प्रसाद यादव की जेल से रिहाई के लिए ट्विटर पर रोजा रखने का ऐलान का मामला हो या फिर फिर एक के बाद एक बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी पर ताबड़तोड़ हमले.  'सुशील मोदी को थूर देंगे', हाल में ही रोहणी के द्वारा किया गया ट्वीट काफी चर्चा में है.  

राज्यसभा सदस्य व बीजेपी नेता सुशील मोदी ने पिछले दिनों ट्वीट करते हुए लिखा था कि तेजस्वी यादव के परिवार में दो बहनें डॉक्टर हैं. कोरोना संक्रमण के दौर में उनकी सेवाएं क्यों नहीं ली गईं? इतना ही नहीं सुशील मोदी ने तेजस्वी यादव द्वारा कोविड केयर सेंटर के संचालन को लेकर जारी किए वीडियो पर निशाना साधा. इसी बयान पर रोहिणी आचार्य भड़क गईं और सुशील मोदी पर पलटवार करते हुए कई ट्वीट कर कहा था कि आज के बाद से मेरा या मेरी बहनों का नाम लिया न ये आकर मुंह थुर देंगे. 

 

रोहणी आचार्य बीजेपी सांसद सुशील मोदी से लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर लगातार हमले कर रही हैं. पीएम मोदी के भावुक होने पर तंज कसते हुए रोहणी ने ट्वीट कर कहा था, 'आंसू नहीं समाधान चाहिए, देश की जनता को इंसाफ चाहिए. आंसू और भावुकता को ढाल बनाकर, देश डूबो रहा है.' वहीं, अपने पिता आरजेडी प्रमुख लालू यादव की तारीफ करते हुए रोहणी ने ट्वीट कर लिखा कि लालू जी के सामाजिक न्याय को जिन्होंने जंगलराज बताया वो आज अपने दु:शासन राज को सुशासन राज बताने पर अड़े हुए हैं. लालू जी ने मानसिक गुलामी से आजाद किया, जीवन जीने का सम्मानजनक अधिकार दिया. जो मानसिक गुलामी से आजाद हो जाता है, उसे आर्थिक आजादी खुद मिल जाती है.
 
रोहिणी आचार्य का यह ट्विटर अकाउंट फिलहाल अनवेरिफाइड है. रोहिणी ने अपनी प्रोफाइल पर खुद के अलावा अपने पिता लालू यादव और छोटे भाई तेजस्‍वी यादव की तस्‍वीर लगा रखी है. साथ ही प्रोफाइल फोटो के साथ 'युवा संकल्‍प, तेजस्‍वी विकल्‍प' लिखा हुआ है. इससे अटकलें लगाई जा रही हैं कि रोहिणी, तेजस्वी यादव को आगे रखकर सियासत में कदम रखना चाहती हैं.   

हालांकि, रोहिणी के राजनीति में आने की चर्चा इसलिए भी तेज है, क्योंकि सबसे पहले उनका नाम खुलकर तब सामने आया था जब वर्ष 2016 में तेजस्वी यादव बिहार के डिप्टी सीएम थे. उसी दौर में तेजस्वी का नाम बेनामी संपत्ति मामले में सामने आया था. उस वक्त यह खबर भी सामने आई थी कि लालू परिवार तेजस्वी को हटाने पर विचार कर रहा है और उनकी जगह रोहिणी आचार्य को उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है.  हालांकि ये सारी चर्चाएं हवा में ही खत्म भी हो गईं थी, लेकिन रोहिणी जिस तरह से ट्विटर पर अपने पिता और भाई के विरोधी पर निशाना साध रही हैं, उससे उनके सियासत में कदम रखने की चर्चाएं तेज हो गई हैं. 

रोहिणी आचार्य आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव की दूसरी बेटी हैं और पेशे से डॉक्टर हैं. रोहिणी की शादी बिहार में ही औरंगाबाद जिले के रहने वाले पेशे से कंप्‍यूटर इंजीनियर राव समरेश सिंह से हुई है. समरेश सिंह शादी के वक्त अमेरिका में जॉब कर रहे थे, लेकिन फिलहाल सिंगापुर में एक कपंनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. 

रोहिणी आचार्य के नाम से ट्विटर हैंडल से ज्‍यादातर टिप्‍पणियां पूरी तरह राजनीतिक होती हैं. उनका यह अकाउंट वैसे तो नवंबर 2017 से है, लेकिन इस पर राजनीतिक सक्रियता पिछले कुछ महीनों से अधिक है. वे आरजेडी या किसी अन्‍य दल में पदाधिकारी नहीं हैं और न हीं वे कभी चुनावी राजनीति में सक्रिय रही हैं, लेकिन हाल के दिनों में उनकी सक्रियता पर गौर करें तो ऐसा लगता है कि वो जल्‍द ही सक्रिय राजनीति में कदम रखने वाली हैं. 

बता दें कि लालू-राबड़ी की सात बेटियां हैं. मीसा और रोहिणी के बाद तीसरी बेटी चंदा यादव की शादी एयरलाइंस पायलट विक्रम सिंह, चौथी बेटी रागिनी की शादी यूपी के सपा नेता राहुल यादव, पांचवीं बेटी हेमा की शादी दिल्‍ली के नेता विनीत यादव, छठी बेटी धन्‍नु उर्फ अनुष्‍का की शादी हरियाणा के राजनेता चिरंजीवी राव और सातवीं बेटी राजलक्ष्‍मी की शादी यूपी में मुलायम सिंह यादव के पोते तेज प्रताप सिंह यादव से हुई है. बेटे तेज प्रताप यादव की शादी भी हो चुकी है, हालांकि उनका पारिवारिक जीवन विवादों में है. वहीं सबसे छोटे बेटे तेजस्वी यादव का विवाह अभी नहीं हुआ है.




 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें