scorecardresearch
 

पटना: नहीं होगी गाड़ियों की चेकिंग, जुर्माना लगाने की बजाय चलेगा जागरूकता अभियान

बिहार की राजधानी पटना में स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच गाड़ी चेकिंग को लेकर हुई हिंसक झड़प का मामला सामने आने के बाद राजधानी पटना में वाहन चेकिंग अभियान पर तत्काल रोक लगा दी गई है. अब जुर्माना लगाने की बजाय पुलिस जागरूकता अभियान चलाएगी.

पटना में गाड़ियों की चेकिंग पर तत्काल रोक (Photo- Aajtak) पटना में गाड़ियों की चेकिंग पर तत्काल रोक (Photo- Aajtak)

  • पटना में वाहन चेकिंग अभियान पर तत्काल रोक
  • ट्रैफिक नियमों के लिए लोगों को किया जाएगा जागरूक

बिहार की राजधानी पटना में गाड़ी चेकिंग को लेकर गुरुवार को स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई. मामला सामने आने के बाद राजधानी पटना में वाहन चेकिंग अभियान पर तत्काल रोक लगा दी गई है. अब जुर्माना लगाने की बजाय पुलिस जागरूकता अभियान चलाएगी. झड़प का ये मामला पटना के एग्जिबिशन रोड से सामने आया था.

शुक्रवार (13 सितंबर) को पटना प्रमंडल के आयुक्त आनंद किशोर के अध्यक्षता में एक बैठक हुई जिसमें इस बात का फैसला लिया गया कि जिस तरीके से गुरुवार को स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच वाहन चेकिंग को लेकर मारपीट तक की नौबत आ गई, उसके बाद फिलहाल वाहन चेकिंग अभियान पर रोक लगा दी जाए और इसके बजाय लोगों को ट्रैफिक नियमों को लेकर जागरूक किया जाए.

गौरतलब है कि गुरुवार को एग्जीबिशन रोड के पास पुलिस ने एक कार सवार महिला को रोका था और सीट बेल्ट नहीं बांधने को लेकर 5,000 रुपये का चालान किया था. इसे लेकर महिला और पुलिस वालों के बीच में काफी देर तक बहस हुई. इस दौरान महिला को स्थानीय लोगों का भी समर्थन मिला और फिर गुस्साए लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया.

गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पत्थरबाजी भी की, जिसके जवाब में पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया और फिर हालात पर काबू पाया गया.

सूत्रों के मुताबिक, राजधानी में हुई इस घटना और पुलिस के कामकाज के तरीके को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी काफी नाराज हैं. इस वजह से फिलहाल पटना में वाहन चेकिंग पर रोक लगा दी गई है, साथ ही फैसला लिया गया है कि नए मोटर व्हीकल कानून को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाई जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें