scorecardresearch
 

तेजस्वी के दिल की बात- बीजेपी की वजह से खराब हुई बिहार की छवि

बिहार में जंगलराज के आरोप झेल रही सरकार के बचाव में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने विपक्षियों को आंकड़ों के साथ घेरने की कोशिश की है.

X

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने राज्य में 'जंगलराज' का आरोप लगाने वालों को निशाने पर लिया है. तेजस्वी ने अपने फेसबुक पेज पर विरोधियों के आरोपों पर पलटवार करते हुए अपराध और विकास दोनों के आंकड़े पेश किए हैं. उन्होंने बीजेपी शासित राज्यों से बिहार की तुलना भी की.

तेजस्वी यादव ने अबकी बार 'मेरे दिल की बात' सीरीज के तहत 'जंगलराज की बात' पर टिप्पणी की. उन्होंने लिखा कि, नकारात्मक चुनाव प्रचार के कारण हारे ये राजनीति के तथाकथित दिग्गज हार के बाद भी कोई सबक लेने से साफ इंकार कर रहे हैं. बिहार की जनता को जंगलराज के आधारहीन और तथ्यहीन जुमले से चिढ़ है. इससे ना सिर्फ ब्रांड बिहार की मानहानि होती है बल्कि कॉरपोरेट से लेकर अप्रवासी बिहारी तक बिहार में पूंजी निवेश करने से कतराने लगते हैं.

पांच साल बाद भी नकार देगी जनता
बिहार के डिप्टी सीएम ने कहा, 'सनसनी पैदा करने के लिए आपसी सम्पत्ति विवाद, पारिवारिक रंजिश इत्यादि के कारण होने वाली हत्याओं की असली वजह छुपाकर इस प्रकार पेश किया जाता है कि जैसे वे संगठित अपराध का हिस्सा हों और उसे सरकार का संरक्षण प्राप्त हो? नकारात्मक राजनीति और सनसनी पैदा करने की नीतियों को जनता दो माह पूर्व नकार ही चुकी है, पांच वर्ष बाद भी फिर से नकार देगी, इसे लेकर वे पूरी तरह आश्वस्त रहें.'

उन्होंने कहा कि विपक्ष में जिन्हें अपनी ‘प्रशासनिक प्रतिभा’ को लेकर ज्यादा ही विश्वास है, वे इसे केंद्र में आजमाएं, जहां कुशल प्रशासकों का घोर अभाव है वैसे भी देश की राजधानी दिल्ली जहां की कानून व्यवस्था केंद्र सरकार के अधीन है वहां अपराध दर क्या है ये किसी से छिपा नहीं है अगर विपक्षी कहेंगे तो उनको आंकड़े उपलब्ध करवा सकता हूं.

कुछ घटनाएं होने से जंगलराज?
तेजस्वी ने कहा कि इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि देश के सुरक्षा ठिकानों पर आतंकी हमले हो रहे है, पुलिस अधीक्षक का अपहरण हो जाता है, मेरे देश की माटी पर बार-बार पाकिस्तानी झंडे फहराए जा रहे है. अब मैं बगैर राजनीति किए ईमानदारी से पूछना चाहता हूं क्या ऐसी कुछेक घटना होने के कारण देश में जंगलराज है?

अगर बिहार में कुछेक ऐसी घटना होने के कारण यहां जंगलराज है तो फिर देश में भी जंगलराज एवं आतंकराज होना चाहिए. आकड़ों के हिसाब से बिहार में अपराध बीजेपी शासित अन्य राज्यों के मुकाबले बहुत कम है जबकि बिहार की जनसंख्या उन राज्यों से कहीं ज्यादा है. यही नहीं, आंकड़े साफ-साफ दिखाते हैं कि बिहार में अपराध में कोई उछाल आया हो, ऐसा भी कुछ नहीं है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें