scorecardresearch
 

नीतीश कुमार ने कहा- मेरे ऊपर कागज नहीं, चप्पल फेंकी गई थी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया कि सोमवार को जनता दरबार में उनके ऊपर युवक ने कागज नहीं, बल्कि चप्पल फेंकी थी. जबकि पुलिस ने पहले कहा था कि मुख्यमंत्री पर कागज फेंका गया था.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया कि सोमवार को जनता दरबार में उनके ऊपर युवक ने कागज नहीं, बल्कि चप्पल फेंकी थी. जबकि पुलिस ने पहले कहा था कि मुख्यमंत्री पर कागज फेंका गया था.

नीतीश से इसलिए नाराज था युवक
दरअसल, सोमवार को नीतीश कुमार के जनता दरबार में मुख्यमंत्री की तरफ कुछ फेंका था, जिसे पहले कागज बताया गया था . बताया जा रहा है कि युवक नीतीश सरकार के उस फैसले से नाराज है, जिसमें आग लगने की घटनाओं को देखते हुए सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक चूल्हा नहीं जलाने की हिदायत दी गई है.

मुख्यमंत्री को नहीं लगी चप्पल
आरोपी युवक सीएम के पटना स्थित सीएम आवास में फरियाद लेकर पहुंचा था. जैसे ही दरबार शुरू हुआ, उसने मुख्यमंत्री पर कथ‍ित तौर पर चप्पल फेंकी , जो कुछ दूर जाकर गिर गई. इस घटना के फौरन बाद वहां मौजूद लोगों ने युवक को घेर लिया, जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया.

आरोपी का नाम भी नीतीश
पटना के सीनियर एसपी ने बताया कि अरवल जिले का रहने वाले इस युवक का नाम भी नीतीश है. इससे पहले जनता दरबार में तब अफरातफरी मच गई, जब एक फरियादी अचानक चीखने लगा और चीखते-चीखते बेहोश हो गया. गर्मी की वजह से वो बेहोश हो गया था. उसे जनता दरबार में मौजूद डॉक्टरों की निगरानी में भेजा गया.

जनवरी में नीतीश पर फेंका था जूता
यह पहली बार नहीं है, जब नीतीश पर चप्पल फेंकी गई है. इससे पहले जनवरी में जनसभा के दौरान शराबबंदी से नाराज युवक ने उन पर जूता फेंका था. हालांकि सीएम बाल-बाल बच गए थे और जूता मंच तक नहीं पहुंचा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें