scorecardresearch
 

बिहार चुनाव: पुराने घर लौटे श्याम रजक, अब मांझी के फैसले पर टिकी नजर

मांझी की पार्टी 2015 में 20 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. बताया जा रहा है महागठबंधन में आरजेडी और कांग्रेस के बीच में सीटों को लेकर जो तालमेल हुआ है उसमें हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को बहुत ज्यादा कुछ मिलने की उम्मीद नहीं है.

जीतन राम मांझी 20 अगस्त को करेंगे बड़ा फैसला जीतन राम मांझी 20 अगस्त को करेंगे बड़ा फैसला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 20 अगस्त को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा कोर कमेटी की बैठक
  • श्याम रजक ने आखिरकार आरजेडी का दामन थाम लिया

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक उठापटक और दल बदल का खेल शुरू हो गया है. महागठबंधन और एनडीए में कौन रहेगा और कौन साथ छोड़ेगा यह तस्वीर भी धीरे- धीरे साफ हो रही है. जदयू से निष्कासित और बिहार सरकार के मंत्री रहे श्याम रजक ने विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद राजद की सदस्यता ग्रहण कर ली. रविवार को ही श्याम रजक के आरजेडी में शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू ने उन्हें पार्टी से बाहर निकाल दिया. एक ओर श्याम रजक ने जहां आरजेडी का दामन थाम लिया वहीं दूसरी तरफ अब यह खबर आ रही है कि बिहार के पूर्व सीएम और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी भी महागठबंधन से किनारा कर जेडीयू के साथ गठबंधन कर सकते हैं.

माना जा रहा है कि इसी सप्ताह जीतन राम मांझी बिहार चुनाव के मद्देनजर कोई बड़ा फैसला कर सकते हैं. जीतन राम मांझी अपनी पार्टी का विलय जेडीयू के साथ करेंगे या गठबंधन होगा, यह दोनों ही विकल्प जीतन राम मांझी के पास मौजूद है. बहुत अधिक संभावना है कि मांझी दूसरे विकल्प के साथ जाएंगे और जनता दल यूनाइटेड के साथ गठबंधन करेंगे. संभावना है कि 20 अगस्त को जीतन राम मांझी बड़ा फैसला कर सकते हैं क्योंकि इसी दिन उन्होंने अपने पार्टी की कोर कमेटी की बैठक बुलाई है.

महागठबंधन में मांझी की ओर से लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं. महागठबंधन में जीतन राम मांझी की ओर से समन्वय समिति और महागठबंधन का नेता तय नहीं यह सब बातें कहीं जा रही हैं. इसके बाद भी तेजस्वी यादव उन्हें तवज्जो नहीं दे रहे हैं. मांझी की पार्टी 2015 में 20 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. बताया जा रहा है महागठबंधन में आरजेडी और कांग्रेस के बीच में सीटों को लेकर जो तालमेल हुआ है उसमें हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को बहुत ज्यादा कुछ मिलने की उम्मीद नहीं है.


सुशांत केस बनेगा चुनावी मुद्दा? BJP ने फडणवीस को बनाया बिहार चुनाव का प्रभारी

ऐसा माना जा रहा है कि मांझी महागठबंधन को छोड़कर जनता दल यूनाइटेड के साथ गठबंधन का मन बना चुके हैं. राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है. अभी श्याम रजक ने आरजेडी का दामन थामा है आने वाले वक्त में कई और नेता भी पाला बदल सकते हैं. कौन कब किसके साथ जाएगा यह कह पाना बड़ा मुश्किल है. हालांकि हम नेताओं की ओर से इस बारे में कुछ नहीं कहा जा रहा है. उनका कहना है कि जीतन राम मांझी पार्टी को फैसला लेंगे लेकिन नीतीश की तारीफ करने से भी नहीं चूक रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें