scorecardresearch
 

फैक्ट चेक- क्या जन्मदिन के जश्न में सचमुच दोस्तों के हाथों मारा गया ये लड़का?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि बर्थडे पार्टी की मौज मस्ती में बर्थडे बॉय की मौत हो गई. वीडियो में दिख रहा है कि एक कमरे में ज़मीन पर गिरे एक लड़के को उसके दोस्त लात-घूंसों से पीट रहे हैं. लड़के हंसी मज़ाक के मूड में दिख रहे हैं, पास में टेबल पर एक केक रखा है. जानिए आखिर क्या है इस वायरल वीडियो का सच.

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर

बर्थडे पार्टी की मौज मस्ती में अगर 'बर्थडे बॉय' की मौत हो जाए तो आप क्या कहेंगे? सोशल मीडिया पर एक ऐसा ही वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है.

वीडियो में दिख रहा है कि एक कमरे में ज़मीन पर गिरे एक लड़के को उसके दोस्त लात-घूंसों से पीट रहे हैं. लड़के हंसी मज़ाक के मूड में दिख रहे हैं, पास में टेबल पर एक केक रखा है. पिटाई के बाद लड़का कुछ कराहता हुआ सा खड़ा होता है और वीडियो खत्म हो जाता है.

कहा ये जा रहा है कि वीडियो में जिस लड़के की पिटाई हो रही थी उसका जन्मदिन था. दोस्तों ने 'बर्थडे बम्प' के नाम पर उसकी इतनी पिटाई कर दी कि उसकी मौत हो गई. 'बर्थडे बम्प' का मतलब है कि जिसका जन्मदिन होता है, उसे लोग मज़ाक में हल्की-फुल्की थपकी लगाकर जन्मदिन की मुबारकबाद देते हैं.

वीरेंद्र सहवाग, न्यूज़ चैनल TV 9 सहित कई लोगों ने  ने इस वीडियो को यही कहते हुए शेयर किया कि इस लड़के की मौत हो गई है. देखते ही देखते, हजारों और लोगों ने भी इस वीडियो को शेयर कर लिया और हंसी मज़ाक के चक्कर में हुई इस मौत के बारे में प्रतिक्रिया जाहिर करने लगे.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने अपनी जांच में पाया की लड़के की मौत का दावा गलत है. इंडिया टुडे की बात सीधे उस लड़के से हुई और वो एकदम ठीक है.

सहवाग के इस वीडियो को लेकर किए गए ट्वीट पर रघुराज सिंह नाम के एक ट्विटर यूज़र ने कमेंट किया कि ये फेक न्यूज़ है. रघुराज ने लिखा कि मार खाने वाले लड़का उन्हीं के कॉलेज का छात्र और उसे कुछ नहीं हुआ है. इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया.

इस वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने उसी रघुराज की खोज शुरू की जिसने सहवाग के ट्वीट के जवाब में दावा किया था कि ये लड़का उसी के कॉलेज का है.

हमें पता चला कि रघुराज पूर्व सोवियत रूस के एक देश किर्गिस्तान में पढ़ता है. हमने रघुराज सिंह से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने हमारे मैसेज का जवाब नहीं दिया. लेकिन रघुराज की फेसबुक प्रोफाइल पर ही हमें एक ग्रुप फोटो मिल गई, जिसमें रघुराज के साथ उसी कॉलेज में पढने वाले तमाम लोग मौजूद थे. इन्हीं में से एक व्यक्ति था दीपक आंजना. ये लोग किर्गिस्तान की राजधानी बिशकेक के एक कॉलेज में पढ़ते हैं. हमने दीपक आंजना से संपर्क किया और हमारी उनसे बातचीत हो गई.

दीपक ने माना कि वायरल वीडियो में जिस लड़के की पिटाई हो रही है वो उनका साथी है. लेकिन उसके मौत की खबर सरासर गलत है. दीपक की मदद से हमारी सीधे उस लड़के से भी बात हो गई जिसके मौत का दावा तमाम लोग कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि ये घटना दिसम्बर 2018 की है, जब उनका जन्मदिन था और दोस्तों ने उनके साथ ऐसा किया था.

जब से उनकी मौत की खबर के साथ वीडियो वायरल हो गई है तब से वो काफी तनाव में है, क्योंकि कॉलेज में भी इसकी छानबीन हो रही है. उनकी पहचान को सार्वजनिक नहीं करने के उनके अनुरोध पर हम उनका और उनके कॉलेज का नाम जाहिर नहीं कर रहे हैं.

पिटाई खाने वाले लड़के ने खुद अपनी तरफ से भी सोशल मीडिया पर लोगों को बताया था कि मौत की खबर बेबुनियाद है.

इस वीडियो के मामले में वीरेंद्र सहवाग और दूसरे लोग भले ही धोखा खा गए हों. लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि इस तरह का मज़ाक  ना सिर्फ खतरनाक है बल्कि जानलेवा भी साबित हो सकता है.

फैक्ट चेक

वीरेंद्र  सहवाग और अन्य लोगों ने

दावा

एक लड़के के जन्मदिन पर उसको मौज मस्ती में इतना पीटा गया की उसकी मौत हो गई.

निष्कर्ष

दावा एकदम फ़र्ज़ी है. वीडियो में पिट रहे लड़के को कुछ नहीं हुआ है और वो स्वस्थ है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
वीरेंद्र  सहवाग और अन्य लोगों ने
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें