scorecardresearch
 

सुशांत बोले- कड़े स्टैंड पर खुश नहीं हैं बुजुर्ग, #MeToo पर सिंटा की नई कमेटी

#MeToo के तहत बॉलीवुड से दिग्गज सितारों के नाम सामने आए हैं. इसी पर सिंटा ने अहम फैसले लिए हैं.

आलोक नाथ (फोटो: इंस्टाग्राम) आलोक नाथ (फोटो: इंस्टाग्राम)

बॉलीवुड से #MeToo के लपेटे में कई दिग्गज नाम सामने आए हैं. इनमें नाना पाटेकर, साजिद खान, विकाह बहल, सुभाष घई, आलोक नाथ जैसे स्टार्स शामिल हैं. फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े कलाकारों पर आरोप लगने के बाद CINTAA (सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन) ने पीड़ित महिलाओं का सपोर्ट किया है. सिंटा ने सवालों के घेरे में आए कुछ सेलेब्स को नोटिस भेजकर जवाब भी मांगा है. अब इसी मुद्दे पर मुंबई में CINTAA ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अहम फैसलों की जानकारी दी.

CINTAA ने बताया कि सेक्सुअल हैरेसमेंट मामलों के लिए नई कमेटी का गठन किया गया है. कमेटी में रवीना टंडन, रेणुका शहाणे, अमोल गुप्ते सहित अन्य मेंबर शामिल हैं. इसके साथ ही ये भी ऐलान किया गया कि स्वरा भास्कर के साथ एक सब-कमेटी बनाई जाएगी. कमेटी बनाने की अहम वजह पीड़ितों को एक ऐसा प्लेटफॉर्म देना है, जहां वो अपनी बात बिना हिचके रख सकें.

#MeToo: 19 साल बाद थाने पहुंचीं विनता, कोर्ट से आलोक नाथ को फटकार

CINTAA के अध्यक्ष सुशांत सिंह ने कहा, ''कुछ दिग्गज सेलेब्स मुझसे नाराज हैं क्योंकि मैंने इस मुद्दे पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. लेकिन मैं अपने द्वारा कही गई बातों से संतुष्ट हूं. सेक्सुअल हैरेसमेंट, कास्टिंग डायरेक्टर और डायरेक्टर से शुरू होता है. लोग खुलेआम समझौते की बात करते हैं. संगठन कोशिश करेगा कि अच्छे कास्टिंग डायरेक्टर और एजेंसियां हों. दलालों का खुलासा होने की जरूरत है.''

उन्होंने कहा, ''मीटू की कहानियां हर इंडस्ट्री में हैं. हम अबतक शायद इसे नजरअंदाज करते रहे. मैं इस अभियान का शुक्रगुजार हूं. सच्चे सर्वाइवरों का मैं धन्यवाद करता हूं. हमें अलर्ट होने की जरूरत है, फेक अकाउंट्स के जरिए इस मूवमेंट को खराब करने की कोशिश हो रही है. झूठी खबर फैलाई जा रही है. मेरी मीडिया से अपील है कि एकतरफा कहानियों पर भरोसा ना करें. हर किसी को एक ही तराजू में ना तोलें.''

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें