scorecardresearch
 

Sarkaru Vaari Paata Review: कमजोर डायरेक्शन में फीके पड़े Mahesh Babu, एंटरटेन कम ज्ञान ज्यादा बांटती है फिल्म

साउथ सुपरस्टार महेश बाबू की फिल्म Sarkaru Vaari Paata सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. फिल्म का फैंस को लंबे वक्त से इंतजार था. फिल्म में महेश बाबू का दमदार एक्शन फैंस को देखने को मिलेगा. आप थियेटर्स में फिल्म देखने जाएं, इससे पहले पढ़ें ये रिव्यू.

X
महेश बाबू महेश बाबू

Sarkaru Vaari Paata Review: साउथ सुपरस्टार महेश बाबू के फैंस के लिए 12 मई का दिन सेलिब्रेशन से कम नहीं. उनके फेवरेट सुपरस्टार की मचअवेटेड फिल्म Sarkaru Vaari Paata जो रिलीज हुई है. 'बॉलीवुड मुझे अफॉर्ड नहीं कर सकता...' जैसा बड़ा कमेंट कर इन दिनों हेडलाइंस में छाए महेश बाबू को इस विवाद का फायदा तो मिला ही है. उनकी फिल्म का हिंदी बेल्ट में भी अच्छा खासा प्रमोशन हो गया. खैर, अब जब फिल्म रिलीज हो गई है तो जानते हैं कैसी बनी है ये फिल्म, जिसे लेकर लंबे वक्त से हाईप बना हुआ था.

क्या है फिल्म की कहानी?
महेश यानी माही कम उम्र में अपने पेरेंट्स को खो देता है. इसके बाद वो अमेरिका में लोन एजेंसी चलाता है. वो कंपनी का सिर्फ मालिक ही नहीं रिकवरी एजेंट भी है. वो पैसा ना देने वालों से रुपयों की वसूली करता है. एक दिन वो Kalaavathi (कीर्ति सुरेश) से मिलता है. कलावती उसे  $10,000 का लोन देने के लिए फंसाती है. माही कलावती को पहली नजर में दिल दे बैठता है. जबकि उसका दोस्त (Vennela Kishore) उसे कलावती को लेकर वार्निंग देता है. पर माही है कि मानता ही नहीं. क्योंकि वो कलावती के प्यार में अंधा है. 

Archana Puran Singh-Shekhar Suman show: कपिल शर्मा शो छोड़ रहीं अर्चना? शेखर सुमन संग नए शो का किया ऐलान

माही कलावती के बारे में जानना चाहता है. वो Vizag जाकर उसके पिता राजेंद्रनाथ (Samuthirakani) से मिलता है. पहले तो वो राजेंद्रनाथ से लोन अमाउंट देने को कहता है जो उसकी बेटी ने लिया है. फिर बाद में राजेंद्रनाथ को मालूम पड़ता है कि महेशा को कोई दूसरा मकसद है. इसके बाद की कहानी राजेंद्रनाथ, लोन स्कैम और फॉल्टी बैंकिग सिस्टम के बारे में है.

कमजोर डायरेक्शन

कुल मिलाकर डायरेक्टर Parasuram Petla की मूवी Sarkaru Vaari Paata की कहानी बैंक defaulters के बारे में है. फिल्म बताती है कैसे प्रभावशाली लोग लोन चुकाने से बच जाते हैं, गरीब होते हैं जो शर्मिंदगी झेलते हैं, अगर वे समय पर  EMIs नहीं चुका पाते. महेश बाबू के गरीबों की दशा बताते हुए मूवी में monologue भी है, जिन्हें सुनकर आपको निराशा ही होगी.

Ranvir Shorey ने की ताज महल के कमरे खोलने की मांग, यूजर्स बोले- दिमाग खोलने की जरूरत

नहीं चला महेश बाबू का फॉर्मूला

महेश बाबू के कॉमिक, रोमांटिक से लेकर एक्शन सीक्वेंस देखने को मिलते हैं. मूवी के डायलॉग्स भी दमदार नहीं हैं. फिल्म में कुछ बेस्ट मोमेंट्स हैं. कीर्त सुरेश का किरदार कमजोर लिखा गया है. फिर भी एक्ट्रेस ने अपने रोल में बेस्ट देने की पूरी कोशिश की है. फिल्म ज्ञान ज्यादा बांटती नजर आई. कंपोजर S Thaman और सिनेमेटोग्राफर Madhie का काम सराहनीय है. 

महेश बाबू की Sarkaru Vaari Paata सॉलिड कमर्शियल एंटरटेनर साबित हो सकती थी. लेकिन डायरेक्टर की कोशिश थोड़ी कम पड़ गई. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें